बड़ी खबर: बुढ़ापा पेंशनधारकों की सूची से 3.6 लाख लोग बाहर, 9 हजार अयोग्य

मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के आदेश पर सामाजिक सुरक्षा विभाग द्वारा कराए गए सर्वे में पंजाब में कुल 19,87,196 बुढ़ापा पेंशनधारकों में से 16,24,269 लोगों को ही बुढ़ापा पेंशन योजना का पात्र करार दिया गया है। यानी 3,62,927 लोगों को सूची में शामिल नहीं किया गया है। सर्वे के बाद 93,521 अयोग्य पेंशनधारकों को तो सीधे तौर पर नई सूची से बाहर कर दिया गया। बड़ी खबर: बुढ़ापा पेंशनधारकों की सूची से 3.6 लाख लोग बाहर, 9 हजार अयोग्य

दिल्ली-एनसीआर में अगले 24 घंटे हैं बेहद अहम, खतरनाक स्तर पर पहुंचा वायु प्रदूषण

सामाजिक सुरक्षा विभाग से मिली जानकारी के अनुसार, पंजाब सरकार ने सूबे में बुढ़ापा पेंशन ले रहे लोगों का सर्वे पूरा करने के बाद अप्रैल माह के लिए पेंशन का राशि जारी कर दी है। पात्र पेंशनधारकों को यह राशि 500 रुपये प्रति माह की दर से ही दी जाएगी, क्योंकि सरकार ने बुढ़ापा पेंशन में 250 रुपये प्रति माह की बढ़ोतरी इस साल जुलाई माह से की है।

वसूली की कार्रवाई शुरू 
सर्वे में फर्जी पाए गए पेंशनधारकों द्वारा अब तक ली गई राशि की वसूली का कार्रवाई भी शुरू दी गई है। वहीं लाभपात्रों में फर्जी लोगों को जोड़ने वाले अफसरों के खिलाफ एक्शन के लिए सामाजिक सुरक्षा विभाग ने जांच टीम के गठन को मंजूरी दे दी है। 

51,328 जवान भी ले रहे थे बुढ़ापा पेंशन
 सर्वे के बाद जिन 93,521 को अयोग्य ठहराया गया है, उनमें 51328 लोग जवान पाए गए जबकि 9839 लोग आमदन के हिसाब समृद्ध पाए गए। इनके अलावा 32,354 लोग तो जमींदार निकले। विभाग ने सर्वे के दौरान गलत पते (96525), अपने पते पर गैरहाजिर (99953) और जिनकी लाभ पात्रों की मौत (72928) हो चुकी है, को अयोग्य करार नहीं दिया है लेकिन इन सभी (कुल 269406) को भी पेंशन योजना से बाहर कर दिया गया है। इस सर्वे की खास बात यह भी रही कि सबसे ज्यादा अयोग्य लाभपात्र बठिंडा जिले (13516) और संगरूर जिले (12574) में पाए गए हैं।

सर्वे में पेंशनधारकों की यह रही असलियत

सर्वे में पेंशनधारकों की यह रही असलियत
जिला    कुल     फर्जी    जवान    धनी    जमींदार
बठिंडा    111621    13516    9738    1166    2612
संगरूर    147620    12574    5397    886    6291
तरनतारन    109475    9796    6300    816    2680
मानसा    85455    8958    5626    140    3192
अमृतसर    143359    8496    5298    885    2313
मुक्तसर    77466    7441    4192    210    3039
गुरदासपुर    144232    7319    3742    906    2671
फरीदकोट    57256    2833    1363    78    1392
मोगा    78509    2662    1105    702    855
फाजिल्का    77819    2452    1504    154    794
लुधियाना    169627    1955    682    719    554
जालंधर    117487    1781    492    517    772
होशियारपुर    108656    1238    557    421    260
फतेहगढ़ साहिब    44410    1210    440    143    627
रोपड़    51004    1136    367    319    450
फिरोजपुर    92355    894    498    270    126
बरनाला    44357    541    191    123    227
नवांशहर    50970    462    152    136    174
कपूरथला    46713    399    38    309    52
पठानकोट    43369    208    77    97    34
कुल    1987196    93521    51328    9839    32354

पेंशन बांटने के लिए फिलहाल 80 करोड़ रुपये जारी कर दिए गए हैं और बाकी महीनों के लिए भी वित्त विभाग को फाइल भेज दी गई है। इसके साथ ही फर्जी पाए गए पेंशनधारकों की पेंशन रोक दी गई है। जो लोग अयोग्य ठहराए गए हैं, उनसे पिछली राशि की वसूली होगी। साथ ही विभाग के उन अफसरों पर भी कार्रवाई की जाएगी, जिनकी लापरवाही से अयोग्य लोग पेंशन हासिल करते रहे।
कविता सिंह, निदेशक, सामाजिक सुरक्षा विभाग, पंजाब सरकार।

loading...

You May Also Like

English News