#बड़ी खबर: भाजपा नेता की हत्या के आरोप में वॉन्टेड क्रिमिनल को पुलिस ने किया गिरफ्तार…

भाजपा नेता गजेंद्र भाटी की हत्या के आरोप में दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के नार्थन रेंज ने वॉन्टेड क्रिमिनल राजकुमार उर्फ राजू पहलवान को गिरफ्तार कर लिया है।#बड़ी खबर: भाजपा नेता की हत्या के आरोप में वॉन्टेड क्रिमिनल को पुलिस ने किया गिरफ्तार...

बुधवार को दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने नोएडा पुलिस के साथ मिलकर भाजपा नेता की दिनदहाड़े हत्या करने वाले सुपारी किलर राजकुमार उर्फ राजू पहलवान को गिरफ्तार किया है। साहिबाबाद के पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा ने भाजपा नेता की हत्या की सुपारी दी थी। आरोपी राजकुमार अंतर्राष्ट्रीय कबड्डी खिलाड़ी रह चुका है और वर्ष 2007 में श्रीलंका में हुई एशियन चैंपियनशिप में गोल्ड जीत चुका है। 

स्पेशल सेल डीसीपी संजीव कुमार यादव के अनुसार, दो सितंबर, 2017 को भाजपा नेता गजेंद्र भाटी उर्फ गज्जी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी, जबकि उसका साथी बलवीर चौहान घायल हो गया था। यूपी पुलिस ने हत्यारोपियों में से एक नरेंद्र उर्फ फौजी को 11 सितंबर को गिरफ्तार कर लिया था। नरेंद्र ने बताया था कि भाजपा नेता की हत्या उसने साथी लोनी, गाजियाबाद निवासी राजकुमार सिंह उर्फ राजू पहलवान के साथ मिलकर की थी।

हत्या के लिए साहिबाबाद के पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा ने दस लाख रुपये की सुपारी दी थी और 50 हजार रुपये एडवांस दिए थे। इंस्पेक्टर संजय नागपाल व पंकज कुमार की टीम को 20 सितंबर को सूचना मिली कि राजू पहलवान सिरसपुर, बाहरी दिल्ली में देखा गया है।

स्पेशल सेल में तैनात एसआई नीरज कुमार, एसआई बिजेंद्र, हरी व नोएडा पुलिस के एसआई गजे सिंह व अंजनी ने संयुक्त रूप से घेराबंदी की और गुरुद्वारा बस स्टॉप, जीटी करनाल रोड, सिरसपुर से राजू पहलवान (33) को पकड़ लिया। आरोपी ने बताया कि उसने लोनी, गाजियाबाद के एक शोरूम व मॉल मालिक की हत्या की सुपारी आठ लाख रुपये में ली थी। 

रोडरेज की घटना से शुरू हुई थी रंजिश 

राजू पहलवान की वर्ष 2013 में रोडरेज की घटना के बाद भाजपा नेता गजेंद्र भाटी से रंजिश शुरू हुई थी। दोनों के वाहन आपस में भिड़ गए थे और उनके बीच झगड़ा हुआ था। इसी झगड़े में राज कुमार घायल हो गया व राजकुमार ने भाजपा नेता और अन्य के खिलाफ ग्रेटर नोएडा में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज कराया था।

समाज के दबाव के चलते राजकुमार ने वर्ष 2015 में केस वापस ले लिया। इसके बावजूद गजेंद्र ने राजकुमार को फर्जी केस में फंसाकर गिरफ्तार करवाने की धमकी दी थी। राजकुमार ने बताया कि गजेंद्र ने उसकी नोएडा स्थित स्पोर्ट्स वियर फैक्टरी पर फायरिंग की थी, मगर प्रभाव के चलते मामला दर्ज नहीं हुआ था।

पूर्व विधायक के साथी के संपर्क में आया  
राजकुमार ने बताया कि करीब दो महीने पहले वह अपने गांव भूपखेड़ी, लोनी के प्रधान मुकेश उर्फ बिट्टू के जरिये पूर्व विधायक अमरपाल शर्मा के साथी नरेंद्र फौजी के संपर्क में आया। राजनीतिक रंजिश के चलते अमरपाल शर्मा भी गजेंद्र भाटी को खत्म करना चाहता था।

इसके बाद अमरपाल के गांव जावली लोनी में स्थित फार्म हाउस में गजेंद्र की हत्या की साजिश रची गई। राजकुमार ने बताया कि लोनी के मॉल मालिक संजीव नागर की हत्या की सुपारी आठ लाख रुपये में सूरज व प्रमोद ने दी थी। दोनों का शोरूम व मॉल का व्यवसाय है। इनका पैसे को लेकर विवाद था।  

राजकुमार अंतर्राष्ट्रीय खिलाड़ी रह चुका है 
वर्ष 1984 में लोनी, गाजियाबाद में पैदा हुए राजकुमार ने वर्ष 2004 में गाजियाबाद से बीपीएड किया था। वह कबड्डी का अच्छा खिलाड़ी है। इस कारण उसे गाजियाबाद में प्राइवेट नौकरी मिल गई थी। वर्ष 2005 से 2009 तक उसने यूपी राज्य स्तर पर कबड्डी खेली।

वर्ष 2007 में उसने श्रीलंका में एशियन चैंपियनशिप खेली और गोल्ड मेडल जीता। वर्ष 2009 में शादी होने के बाद नौकरी छोड़ दी और स्पोर्ट्स वियर बनाने का व्यवसाय ग्रेटर नोएडा में शुरू किया। वर्ष 2013 में इसकी गजेंद्र भाटी से रंजिश शुरू हो गई। राजू पहलवान ने बताया कि कि उसका अनिल दुजाना गिरोह से संबंध है। अनिल दुजाना की सुंदर भाटी गिरोह से रंजिश चल रही है।   

You May Also Like

English News