बड़ी खबर: ‘मोदी पढ़े-लिखे होते तो नोटबंदी का फैसला कभी ना लेते’

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने पीएम नरेंद्र मोदी की डिग्री का मुद्दा एक बार फिर गुरूवार को उठाया। उन्होंने कहा कि कम पढ़े-लिखे होने के वजह से ही वह नोटबंदी के बुरे परिणाम का आकलन नहीं कर पाए। केजरीवाल ने साधा पीएम पर निशाना

बड़ी खबर: 'मोदी पढ़े-लिखे होते तो नोटबंदी का फैसला कभी ना लेते'

बड़ी खुशखबरी: 3000 रुपए से ज्यादा सस्ता हुआ सोना

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक बार फिर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिग्री पर निशाना साधते हुए कहा कि पीएम अपनी डिग्री सार्वजनिक करें, लोगों को पता होना ‌चाहिए कि उनका पीएम कितना पढ़ा लिखा है।

-उन्होंने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि यह जरूरी है कि पीएम की डिग्री की सच्चाई का खुलासा हो क्योंकि यह जनता का संवैधानिक अधिकार है।
-केजरीवाल ने कहा, लोगों का मानना है कि क्योंकि मोदीजी कम पढ़े लिखे हैं इसलिए उन्होंने बिना किसी से डिस्कस किए नोटबंदी का फैसला ले लिया है। अब जब इसके कारण लोगों का जीना मुश्किल हो गया है तो वह हालात से नहीं निपट पा रहे हैं।
 
-नोटबंदी के फैसले को वापस लेने की मांग कर चुके AAP चीफ ने यह भी मांग की कि लोग जो पैसा जमा करा रहे हैं उसका इस्तेमाल किसानों और छोटे कारोबारियों के कर्ज माफी के लिए किया जाए।
केजरीवाल ने ये भी कहा कि ‘लोगों को पता होना चाहिए कि आखिर जिसने उन्हें नोटबंदी जैसी मुश्किल में डाला वो कितना पढ़ा लिखा है। वैसे तो पीएम अपनी सभाओं में कहते रहते थे कि वो कभी कॉलेज नहीं गए पर बाद में ये बात सामने आई कि उन्होंने पत्राचार से डिग्री ली है।’
 
इसके साथ ही उन्होंने आगे कहा कि नोटबंदी से गरीबों और किसानों को जो परेशानी हो रही है उसके बाद तो पीएम को काले धन से अमीरों के नहीं बल्कि गरीबों किसानों के ऋण माफ करने चाहिए। 

You May Also Like

English News