#बड़ी खबर: योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, आखाड़ा परिषद की मांग पर होगी फर्जी बाबाओं पर कड़ी कार्रवाई

अखिल  भारतीय अखाड़ा परिषद के सदस्यों ने आज लखनऊ में सीएम से मुलाकात कर फर्जी बाबाओं के खिलाफ कार्रवाई की मांग की।#बड़ी खबर: योगी सरकार ने लिया बड़ा फैसला, आखाड़ा परिषद की मांग पर होगी फर्जी बाबाओं पर कड़ी कार्रवाईShocking: एक साथ 12 बंदरों का पड़ा हार्ट अटैक हुई मौत, जानिए क्यों!

सीएम से मुलाकात के बाद अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष नरेंद्र गिरी ने कहा कि सीएम योगी ने इस संबंध में आश्वासन दिया है। सा‌थ ही अखाड़ा परिषद को अर्धकुंभ में संतों के आईकार्ड जारी करने का निर्देश भी दिया है।

गौरतलब है कि दस सितंबर को इलाहाबाद में हुई अखाड़ा परिषद की बैठक में 14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट जारी की गई थी।

2019 में होने वाले अर्धकुंभ की तैयारियों को लेकर भी सीएम ने आश्वासन दिया है। तैयारियों को लेकर जल्द ही सीएम विस्तार से मीटिंग करेंगे।

जूना अखाड़ा के महामंत्री महंत हरिगिरि ने कहा, ‘ अतिक्रमण की वजह से परिक्रमा ठीक से नहीं हो पाती है। सरकार इस दिशा में ध्यान दे और पर‌िक्रमा को सुचारू रूप से होने के लिए व्यवस्‍था करनी चाहिए।’

महंत हरिगिरि ने कहा, सीएम को प्रस्ताव दिया गया है कि संगम और उसके आस-पास अस्थायी शौचालयों का निर्माण कराया जाए। साथ ही जहां सीता मां ने स्नान किया था, वहां बैराज बनाया जाए। समय-समय पर पानी छोड़ा जाए, ताकि संगम में पानी आता रहे। इस मुलाकात में 18 परिषदों के 28 संतों ने हिस्सा लिया।

ये रही 14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट

14 फर्जी बाबाओं की लिस्ट में आशराम बापू, राधे मां उर्फ सुखविंदर कौर, सच्चिदानंद गिरी उर्फ सचिन दत्ता, गुरमीत सिंह सच्चा डेरा सिरसा, ओम बाबा उर्फ विवेकानंद झा, निर्मल बाबा उर्फ निर्मलजीत सिंह, इच्छाधारी भीमानंद उर्फ शिवमूर्ति द्विवेदी, स्वामी असीमानंद, ओम नमः शिवाय बाबा, नारायण साईं, रामपाल, कुशमुनि, स्वामी ब्रष्पद, मलखान गिरी है।
loading...

You May Also Like

English News