सबसे बड़ी समस्या दूर, देना होगा वही जो है सही, रोज बदले जाएंगे पेट्रोल-डीजल के दाम

नई दिल्ली। टेक्नोलॉजी और रफ़्तार की इस दुनिया में आज ज्यातर सभी लोगों के पास अपना साधन है। इन साधनों को चलाने के लिए ईंधन की जरूरत एक बेहद ही आम बात है।

बड़ी खबर : होने वाली है पीएम मोदी के ख़ास सिपाही की हत्या, किसी भी पल हो सकता है हमला!

अब खाने-पीने के बाद आज के दौर में सबसे अहम जरूरत पेट्रोल और डीजल की है। बढ़ती महंगाई के चलते डीजल के दामों में अक्सर भारी बढ़ोत्तरी देखी जाती है। ताजा मामले में अब तेल कंपनियों ने यह तय किया है कि कच्चे तेल के दामों के साथ डेली रिव्यू किया जाएगा और इसी के आधार पर रोजाना तेल के दामों में बदलाव किया जाएगा।

रोजाना तेल के दामों में बदलाव

ख़बरों के मुताबिक़ तेल कंपनियां अब कच्चे तेल की कीमतों के अनुसार तेल की कीमतें तय करेंगी। अगर कच्चे तेल के दाम अंतरराष्ट्रीय बाजार में बढ़ेंगे तो कंपनियां तेल की कीमतें बढ़ा देंगी और कच्चे तेल के दाम घटेंगे तो कंपनियां तेल की कीमतें घटा देंगी।

अभी तेल कंपनियां हर महीने की 14 और आखिरी तारीख को तेल की कीमतों का रिव्यू करती हैं और उसके बाद तेल की कीमतों में बदलाव करती हैं। तेल की नई कीमतें 14 तारीख की आधी रात और महीने की आखिरी तारीख की आधी रात से लागू हो जाती हैं।

बता दें भारत में 95 फीसदी तेल की रिटेल मार्केट पर इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम का कब्जा है।

देश की सबसे बड़ी कंपनी के अधिकारी ने बताया कि अब तेल कंपनियां रोजाना तेल की कीमतों का रिव्यू करने का प्लान कर रही हैं।

इंडियन ऑयल के अधिकारी ने तेल की कीमतों के रोजाना रिव्यू करने के आइडिया को लेकर ऑयल मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान और मंत्रालय के अधिकारियों से मुलाकात की। अधिकारी ने बताया कि अभी यह आइडिया कुछ समय के लिए है लेकिन इसे लागू करने के लिए पर्याप्त टेक्नोलॉजी हमारे पास है। यह आइडिया कब से लागू किया जाएगा इसके बारे में अधिकारी ने कुछ नहीं बताया।

उन्होंने कहा कि देश में करीब 53,000 पेट्रोल पंप हैं जो कि इस बात के लिए तैयार हैं कि वह रोजाना तेल की कीमतों को बदल सकते हैं। तेल की कीमतों की जानकारी पेट्रोल पंपों तक पहुंचाने में भी कोई दिक्कत नहीं होगी।

सोशल नेटवर्क और अन्य तकनीक के माध्यम से पेट्रोल पंपों से आसानी से जुड़ा जा सकता है। पहले तेल की कीमतों को बदलने में दिक्कत होती थी क्योंकि टेक्नोलॉजी उतनी अच्छी नहीं थी कि एक साथ सबके पास कीमतों को पहुंचाया जा सके। पहले तेल डीलरों को फैक्स मेसेज और फोन के जरिए बताया पड़ता था लेकिन अब ऐसा नहीं है।

तेल कंपनी के अधिकारी ने कहा कि भारत में तेल की कीमतें भी अंतरराष्ट्रीय मानकों के अनुसार होंगी। यह ग्राहकों और तेल डीलरों दोनों के लिए ही फायदेमंद होंगी। यानी अब वो दिन दूर नहीं कि हर रोज डीजल और पेट्रोल के दामों में बदलाव होगा।

 

You May Also Like

English News