बड़ी खबर: साउथ के ‘दाऊद’ ने किया सुसाइड, मचा हडकंप

एक छोटे शराब व्यापारी से लैंड डीलर बने श्रीधर धनपालन ने बुधवार को साइनाइड खाकर अपनी जिंदगी खत्म कर ली। ‘तमिलनाडु का दाऊद’ कहे जाने वाले श्रीधर की मौत कंबोडिया में हुई, जहां वो तमिलनाडु पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए छिपा हुआ था। काले धंधों और मर्डर जैसे संगीन आरोपों के चलते एजेंसियों, इंटरपोल और पुलिस के रडार में रहने वाले श्रीधर को पकड़े जाने का डर सता रहा था।
ऐसा माना जा रहा है कि एनकाउंटर के डर के चलते उसने खुद को खत्म कर लिया। कंबोडिया पुलिस के मुताबिक श्रीधर ने अपने सहयोगियों को बताया था कि वो सुसाइड करने वाला है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक श्रीधर दुबई में अपने बिजनेस का जाल फैला चुका था।
 
दुबई में तेल की धांधली पकड़े जाने के बाद वो किसी तरह श्रीलंका फरार हो गया। यहां भी उसकी मुश्किलें कम नहीं हुई और पुलिस उस पर शिकंजा कसने के लिए उसकी तलाश करने लगी। पासपोर्ट ब्लॉक हो जाने की वजह से श्रीधर नाव के रास्ते कंबोडिया पहुंचा।

आखिरी बार वो पुलिस की गिरफ्त में 2013 में आया था। उसने गुंडा एक्ट के तहत यहां 6 महीने की सजा भी काटी, लेकिन उसी साल वो देश से फरार हो गया। कस्टडी में आने के बाद उसके खिलाफ करीब 43 केस रजिस्टर किए थे, जिनमें से सात मर्डर से जुड़े थे।

​पहले ही कर चुका था एनकाउंटर के डर का जिक्र

इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक श्रीधर ये पहले ही कह चुका था कि अगर वो देश लौटा तो उसे एनकाउंटर में खत्म कर दिया जाएगा। उसने कहा कि अगर फेयर ट्रायल का वादा किया जाता है, तो वो वापस आने की सोच सकता था। उसने कहा कि अगर उसके साथ नाइंसाफी नहीं की जाएगी, तो वो अपने सभी मामलों की हर जांच का सामना करने को तैयार है। 

दरअसल, उसके खिलाफ 18 केस ऐसे थे जो ट्रायल के लिए रुके हुए थे और इनमें एक मर्डर और 6 मर्डर की कोशिश से जुड़े हुए थे। श्रीधर मौज-मस्ती से भरी जिंदगी जीने का शौकिन था। ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स उसने यह कहा था कि उसने सिंगापुर के कसिनो में उसने लाइफटाइम मेंबरशिप ली हुई है और इसलिए उसे जिंदगी जीने में कोई दिक्कत नहीं आएगी।

 
 

You May Also Like

English News