बड़ी खबर: हो गयी जंग की शुरूआत , पाकिस्तान ने अपनी एयरफोर्स से कहा- हमला करो

उत्तरी कश्मीर के उरी में और नगरोटा में इंडियन आर्मी बेस पर आतंकी हमले बाद भारत और पाकिस्तान में तनाव चरम पर है।  खबर है पाकिस्तान ने भारतीय हमले की आशंका में तैयारी शुरू कर दी है। पाकिस्तान के उत्तरी इलाकों में एयरस्पेस के करीब पाकिस्तान एयर फोर्स के फाइटर प्लेन्स युद्धाभ्यास करते दिखे। 

tejas

बड़ी खबर: मोदी ने मनमोहन सिंह को लेकर किया बड़ा खुलासा

भारत के डर से उठाया कदम
पाकिस्तानी एयर फोर्स ने उस अफवाह के दम पर यह कदम उठाया है कि इंडियन आर्मी लाइन ऑफ कंट्रोल के पार हमला कर सकती है।
तनाव चरम पर
पाकिस्तान एयर फोर्स का यह युद्धाभ्यास तब सामने आया है जब दोनों देशों के बीच तनाव काफी बढ़ चुका है। दोनों पड़ोसी देश परमाणु शक्ति संपन्न हैं। नगरोटा में इंडियन आर्मी के बेस पर हमले के बाद से यह अफवाह है कि भारतीय आर्मी दोबारा एलओसी पार सैन्य अभियान चलाना चाहती है। सोशल मीडिया पर भी इसकी अफवाह किसी तथ्य की तरह सामने आई।
हालांकि पाकिस्तान एयर फोर्स (PAF) की गतिविधियों को लेकर भ्रम की स्थिति है। अपनी गतिविधियों को लेकर PAF और इंटर-सर्विस पब्लिक रिलेशन्स ने चुप्पी साध रखी है। इस चुप्पी के कारण भी अफवाहों को और बल मिल रहा है।
भारतीय खतरों को देखते हुए निगरानी
पाकिस्तानी न्यूज पेपर डॉन से बात करते हुए एक सीनियर मिलिटरी ऑफिशल ने इन खबरों को सिरे से खारिज कर दिया। उन्होंने कहा कि सतर्कता में कोई बदलाव नहीं किया गया है। हालांकि उन्होंने कड़ी निगरानी की बात मानी। उन्होंने कहा कि यह निगरानी भारतीय खतरों को देखते हुए है। उम्मीद की जा रही है कि आने वाले दिनों में PAF की गतिविधियों पर कोई बयान जारी किया जाएगा।
तैयारी शुरू
हालांकि यह बयान उत्तरी इलाके में एयरस्पेस और M1,M2 मोटर्वेज से जुड़ा होगा। लेकिन प्राइवेट न्यूज चैनलों ने कहना शुरू कर दिया है कि पाकिस्तान ने भारत के संभावित हमले को लेकर तैयारी शुरू कर दी है। पाकिस्तान में अफवाह है कि इंडिया अपने 18 जवानों के मारे जाने का बदला लेने के लिए एलओसी पार सर्जिकल स्ट्राइक कर सकता है।
मोटर्वे पर फाइटर प्लेन की लैंडिंग के बारे में बात करते हुए पाकिस्तानी मिलिटरी ऑफिशल ने कहा कि यह रूटीन कार्यक्रम का हिस्सा है। हालांकि इस तरह की लैंडिंग सामान्य रूप से प्रत्येक पांच सालों पर होती है। इस एक्सर्साइज को PAF का एक बड़ा कदम माना जा रहा है। इसे अडवांस तैयारी के रूप में देखा जा रहा है।

You May Also Like

English News