बड़ी खबर: 1 अक्टूबर से बदलने जा रहे हैं ये 5 नियम, सीधे आपकी जेब पर होगा असर

आम आदमी के लिए 1 अक्टूबर से कई चीजें बदलने वाली हैं. ये सारे बदलाव हमारे रोजमर्रा के जीवन से जुड़े हुए हैं. बैंकिंग और आप दुकान से जो सामान खरीदते हैं, उनसे सबसे ये बदलाव जुड़े हुए हैं.

इन बदलाव की जानकारी रखकर आप न सिर्फएक जिम्मेदार नागरिक की भूमिका निभाएंगे, बल्कि आपको भी इसका फायदा होगा. आगे जानिए ऐसे 5 नियम, जो 1 अक्टूबर से बदल जाएंगे.

पुराने एमआरपी पर नहीं बिकेगा सामान: कोई भी दुकानदार 1 अक्टूबर से पुराने एमआरपी पर सामान नहीं बेच सकेगा. 1 तारीख से सभी को नई एमआरपी के साथ सामान बेचना होगा. ऐसा न करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.

दरअसल सरकार ने पुराने एमआरपी पर सामान बेचने की आखिरी तारीख 30 सितंबर तय की थी. अब सरकार ने साफ कर दिया है कि इसके बाद नए एमआरपी पर सामान बेचना होगा और ऐसा न करने वालों के खिलाफ एक्शन लिया जाएगा.

एसबीआई का नया नियम होगा लागू: एसबीआई ने मेट्रो और शहरी भाग में बचत खातों पर न्यूनतम चार्जेस को घटा दिया है. इन्हें अब बैंक ने 5000 से 3000 रुपये कर दिया है. यह भी 1 अक्टूबर से लागू हो जाएगा.

खाता बंद करने के लिए चार्ज नहीं: अगर एसबीआई में आपका खाता है और आप इसे बंद करवाना चाहते हैं, तो 1 अक्टूबर से इसके लिए आप से कोई चार्ज नहीं वसूला जाएगा.

हालांकि यह सुविधा खाता खोलने के 14 दिन तक और 1 साल बाद खाता बंद करने पर मिलेगी. 14 दिन के बाद और 1 साल से पहले बंद करने पर 500 रुपये प्लस जीएसटी लगेगा.

इन बैंकों के नहीं चलेंगे चेक: जिन सहयोगी बैंकों का एसबीआई के साथ मर्जर हुआ है. उनके चेक 1 अक्टूबर से नहीं चलेंगे. इन सहयोग बैंकों के ग्राहकों को एसबीआई के नए चेक लेने होंगे. अगर आप ने ऐसा अभी तक नहीं किया है, तो 1 अक्टूबर से पहले-पहले इस काम को जरूर निपटा लें.

काॅल रेट हो सकते हैं कम : 1 अक्टूबर से आपको सस्ते काॅल रेट्स की सौगात भी मिल सकती है. टेलिकाॅम रेग्युलेटर ट्राई ने 1 अक्टूबर से इंटरकनेक्शन चार्जेस (आईयूसी) घटाने की घोषणा की है.

1 अक्टूबर से इस फैसले के लागू होने पर टेलिकाॅम कंपिनयां आपको सस्ते काॅल का तोहफा दे सकती हैं. दरअसल यह वह चार्ज होता है, जो एक टेलिकाॅम कंपनी उस कंपनी को पे करती है, जिसके नेटवर्क पर काॅल खत्म होती है.

 

You May Also Like

English News