बड़ी खबर: 1 लीटर पेट्रोल सिर्फ 45 रुपये में? नये साल में मिल सकता है तोहफा

1 लीटर पेट्रोल सिर्फ 45 रुपये में. मौजूदा समय में भले ही इस पर व‍िश्वास न हो, लेक‍िन नये साल में आपको सरकार ये तोहफा दे सकती है. सरकार का एक फैसला आपको 25 रुपये तक सस्ता पेट्रोल और डीजल दे सकता है.बड़ी खबर: 1 लीटर पेट्रोल सिर्फ 45 रुपये में? नये साल में मिल सकता है तोहफा
 

पेट्रोल-डीजल की कीमतें एक बार फिर आसमान पर पहुंच गई हैं. गुरुवार को दिल्ली में 1 लीटर पेट्रोल 69.81 रुपये का मिल रहा है. वहीं, डीजल के लिए 59.47 रुपये चुकाने पड़ रहे हैं. कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी का ये असर है.
 

लेक‍िन नये साल में सरकार आपको कच्चे तेल की इन बढ़ती कीमतों से निजात दे सकती है. वह पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत ला सकती है. जीएसटी के तहत लाना इसलिए भी तय माना जा रहा है क्योंक‍ि खुद व‍ित्त मंत्री अरुण जेटली और ऑयल मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान इसका संकेत दे चुके हैं.
 

ऑयल मिनिस्टर धर्मेंद्र प्रधान पेट्रोल-डीजल की बढ़ती कीमतों से निजात दिलाने के लिए इन्हें जीएसटी के दायरे में लाने की सिफारिश कर चुके हैं. व‍ित्त मंत्री अरुण जेटली ने भी कहा है कि सभी राज्यों की सहमति के बाद इसे जीएसटी में शामिल कर किया जा सकता है.
 

जीएसटी के दायरे में आने के बाद पेट्रोल और डीजल पर ज्यादा से ज्यादा 28 फीसदी टैक्स लगाया जा सकता है. ऐसी सूरत में पेट्रोल-डीजल आपको मौजूदा कीमतों से काफी सस्ता पड़ सकता है.
 

पहले तो यह समझें कि फिलहाल कैसे आपको एक लीटर पेट्रोल 69 रुपये का मिलता है. इंडियन ऑयल कंपनी के 25 दिसंबर तक जारी पेड-अप प्राइस डिटेल के  मुताबिक कच्चे तेल की खरीद और रिफाइनरी का खर्च म‍िलाने के बाद कंपनी डीलर को एक लीटर पेट्रोल 31.78 रुपये में बेचती है. 
 

इसके बाद डीलर कमीशन (औसत) 3.58 रुपये जुड़ते हैं. केंद्र एक लीटर पेट्रोल पर 19.48 रुपये एक्साइज ड्यूटी वसूलता है. दिल्ली में 14.81 वैट लगता है. इन सबको मिलाने के बाद 1 लीटर पेट्रोल के लिए आपको 69.65 रुपये चुकाने पड़ते हैं. (कीमतें 25 दिसंबर के मुताबिक)
 

इसी तरह डीजल के लिए (25 दिसंबर के हिसाब से) कंपनियां डीलर से 32.61 रुपये वसूलती हैं. इसमें 2.52 रुपये (औसत) डीलर कमीशन जुड़ता है. इसके बाद 15.33 रुपये एक्साइज ड्यूटी और 8.74 रुपये वैट जुड़ता है. इस तरह आपको एक लीटर डीजल के लिए 59.20 रुपये चुकाने पड़ते हैं.
 

जीएसटी के तहत होगा ये बदलाव : अगले साल अगर सरकार पेट्रोल और डीजल को जीएसटी के तहत लाने का फैसला ले लेती है, तो इस पर लगने वाली एक्साइज ड्यूटी और वैट खत्म हो जाएगा. सरकार को पेट्रोल -डीजल से काफी ज्यादा राजस्व आता है. ऐसे में ये माना जा सकता है क‍ि सरकार इस 28 फीसदी जीएसटी लगाएगी.
 

ऐसे मिलेगा सस्ता पेट्रोल : कंपनियां एक लीटर पेट्रोल के लिए डीलर से 31.78 रुपये वसूलती हैं. इसमें 3.58 रुपये का डीलर कमीशन जुड़ता है. इस तरह एक लीटर पेट्रोल की कीमत 35.36 पहुंच जाती है. जीएसटी के तहत वैट और एक्साइज ड्यूटी की बजाय 28 फीसदी टैक्स  लग सकता है.
 

28 फीसदी टैक्स लगने पर 35.36 में 9.90 रुपये जुड़ जाएगा. इस तरह एक लीटर पेट्रोल के लिए आपको 45.26 पैसे चुकाने पड़ सकते हैं.
 

ऐसे मिलेगा सस्ता डीजल : फिलहाल कंपनियां डीलर को एक लीटर डीजल 32.61 रुपये में बेचती हैं. इसमें डीलर कमीशन 2.52 रुपये जुड़ता है. इस तरह एक लीटर  डीजल 35.13 हो जाता है.
 

28 फीसदी टैक्स लगने के बाद 9.83 पैसे जुड़ेंगे. इस तरह आपको एक लीटर डीजल 44.96 रुपये में मिलेगा.
 

जीएसटी के तहत आने के बाद कच्चे तेल की कीमतें बढ़ने और घटने का असर पेट्रोल और डीजल की कीमतों पर दिखेगा. हालांकि इससे इनकी कीमतों में बड़े  स्तर पर बदलाव नहीं आएगा. क्योंक‍ि इस पर लगने वाला टैक्स फिक्स रहेगा.
 

हालांकि सरकार 28 फीसदी टैक्स लगाने के साथ सेस भी लगा सकती है, लेक‍िन इसके बाद भी पेट्रोल और डीजल की कीमतों में मौजूदा समय की कीमतों से काफी कम रहेंगी.
 

नोट : पेट्रोल और डीजल कीमतें और उन पर होने वाला खर्च 25 दिसंबर के हिसाब से लिया गया है. कच्चे तेल की कीमतों में बदलाव से एक लीटर पेट्रोल तैयार करने में लगने वाले पूरे खर्च में बदलाव आता है. इससे खर्च कम ज्यादा हो सकता है.

You May Also Like

English News