बड़ी खबर: BJP कार्यकारिणी की बैठक शुरू, मिशन 2019 की रणनीति पर होगा महामंथन

बीजेपी की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक आज से शुरू हो रही है. इसमें पार्टी अगले लोकसभा चुनाव की रणनीति का तानाबाना बुनेगी. साल 2019 के लोकसभा चुनाव के अभी डेढ़ साल शेष बचे हैं, लेकिन बीजेपी अपने मिशन 2019 में कोई कसर नहीं छोड़ना चाहती है.बड़ी खबर: BJP कार्यकारिणी की बैठक शुरू, मिशन 2019 की रणनीति पर होगा महामंथनअभी-अभी: राम रहीम के लिए बहुत बुरी खबर, शाह मस्ताना समर्थकों ने लिया ये बड़ा फैसला…

इस राष्ट्रीय कार्यकारिणी की दो दिवसीय बैठक में सभी सांसदों, सभी विधायकों, पार्षदों और प्रदेश इकाइयों के अध्यक्षों समेत 2000 नेताओं को शामिल होने के लिए बुलाया गया है. बीजेपी सूत्रों ने बताया कि 25 सितंबर को बैठक के दौरान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का संबोधन खास होगा, जो कुछ राज्यों में विधानसभा चुनाव और 2019 के लोकसभा चुनाव की दिशा तय करेंगे.

बीजेपी सूत्रों के अनुसार बैठक के दौरान राजनीति प्रस्ताव पेश किया जाएगा, जिसमें रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे को शामिल किये जाने की संभावना है. राजनीतिक प्रस्ताव तैयार करने की जिम्मेदारी राम माधव और विनय सहस्रबुद्धे को सौंपा गया है. इसके अलावा एक आर्थिक प्रस्ताव भी पेश किया जा सकता है, जिसमें जीएसटी से आए आर्थिक बदलाव, नोटबंदी के कारण बदली परिस्थितियों का जिक्र हो सकता है.

उल्लेखनीय है कि रोहिंग्या मुसलमानों के मुद्दे पर सरकार के रूख की कुछ विपक्षी दलों समेत एक वर्ग आलोचना कर रहा है. दूसरी ओर जीएसटी और नोटबंदी के मुद्दे पर भी सरकार को कांग्रेस समेत कुछ विपक्षी दलों की आलोचना का सामना करना पड़ रहा है. कार्यक्रम आयोजन के लिए दिल्ली प्रदेश में समन्वय करने की जिम्मेदारी कैलाश विजयवर्गीय को सौंपी गई है. भाजपा की विस्तारित राष्ट्रीय कार्यकारणी की यह बैठक दीनदयाल उपाध्याय जन्मशती समारोह के समापन के अवसर पर आयोजित की जा रही है.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह भी लगातार अलग-अलग राज्यों का दौरा कर पार्टी कार्यकर्ताओं में नई ऊर्जा का संचार करने का प्रयास कर रहे हैं. बीजेपी पिछले एक साल से पंडित दीनदयाल उपाध्याय जन्म शताब्दी वर्ष मना रही है जो पिछले साल केरल के कोझिकोड में पार्टी की राष्ट्रीय परिषद की बैठक के दौरान तय हुई थी. 

बैठक में पार्टी के सभी 281 लोकसभा सदस्य, राज्यसभा के 57 सदस्य, 1400 विधायक और विधान पार्षद, कोर ग्रूप के सदस्य, प्रदेश इकाइयों के अध्यक्ष और महामंत्री शामिल होंगे. राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक में आमतौर पर स्थायी और विशेष आमंत्रित सदस्यों समेत 200 से कम सदस्य हिस्सा लेते हैं. इस बार इसमें हिस्सा लेने वालों की संख्या 2000 के आसपास होगी.

सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारणी की बैठक के विषयों पर 24 सितंबर को पदाधिकारी मंथन करेंगे. दिल्ली में होने वाली भाजपा की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक के लिए राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और दिल्ली भाजपा के प्रभारी श्याम जाजू और राष्ट्रीय संगठन महामंत्री रामलाल ने दिल्ली बीजेपी नेताओं के साथ तैयारियों की समीक्षा की. दिल्ली प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष मनोज तिवारी ने बताया कि राष्ट्रीय कार्यकारिणी के लिए सभी 19 विभागों के कार्यो का विभाजन किया गया है.

उल्लेखनीय है कि पिछले एक साल में बीजेपी ने एक प्रयोग करते हुए पार्टी के विस्तार के लिए पूर्णकालिक सदस्यों को खास जिम्मेदारी सौंपी है. दीनदयाल विस्तारक योजना के तहत बीजेपी देशभर में अपने इन पूर्णकालिक सदस्यों की सेवा ले रही है. उन स्थानों पर पूर्णकालिक सदस्यों को ज्यादा बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है जहां पार्टी कमजोर है. इनमें कुछ पूर्णकालिक सदस्यों ने 15 दिन के लिए, कुछ छह महीने के लिए तो कुछ ने एक साल तक पार्टी के लिए काम किया है.

सूत्रों के अनुसार पहली बार संघ से प्रेरणा लेकर बीजेपी के पूर्णकालिक सदस्यों की अवधारणा को पार्टी के भीतर भी लागू किया. पिछले एक साल में इस प्रयोग से मिल रही सफलता से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह बेहद उत्साहित हैं. बीजेपी सूत्रों का कहना है कि पार्टी दीनदयाल विस्तारक परियोजना की सफलता से उत्साहित होकर इसे और आगे बढ़ाने पर विचार कर रही है. इसके अलावा पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने पिछले एक साल में पूरे देश में अलग-अलग राज्यों का दौरा किया है. इस दौरान अमित शाह पार्टी की सरकार और संगठन के काम-काज का आकलन करने के अलावा पार्टी कार्यकर्ताओं और प्रबुद्ध वर्ग के लोगों से भी संवाद कर रहे हैं.

You May Also Like

English News