बड़ी खबर: NSG पर नई पेशकश से बौखलाया पाकिस्तान

पाकिस्तान के विदेश कार्यालय ने परमाणु अप्रसार संधि (एनपीटी) पर दस्तखत नहीं करने वाले देशों की परमाणु आपूर्तिकर्ता समूह (एनएसजी) की सदस्यता के लिए उनकी उम्मीदवारी के आकलन के नए फॉर्म्‍युले को भेदभावपूर्ण और बेकार बताते हुए खारिज कर दिया है।

लालू प्रसाद यादव ने नोटबंदी को लेकर पीएम मोदी से किए ये 22 सवाल

पाकिस्तान के अखबार डॉन ने , विदेश विभाग के प्रवक्ता नफीस जकरिया के हवाले से लिखा है कि यह स्पष्ट रूप से भेदभावपूर्ण होगा और एनएसजी के (परमाणु) अप्रसार उद्देश्य को आगे बढ़ाने में कोई योगदान नहीं करेगा।

बड़ा खुलासा: 2000 के नोट पर लगेगा बैन, पीएम मोदी का संदेश आज होने वाला है लीक

भारत और पाकिस्तान की सदस्यता पर 48 सदस्यीय एनएसजी की सोल में हुई पूर्ण बैठक के बेनतीजा रहने के बाद एनएसजी सदस्यों के बीच चर्चा के लिए ऑस्ट्रिया में अर्जेंटीना के राजदूत राफेल मेरिआनो ग्रोसी को समन्वयक नियुक्त किया गया था। गत महीने वियना में हुई एनएसजी की असाधारण पूर्ण बैठक में भी गतिरोध बना रहा।

इस माह राजदूत ग्रोसी ने एनएसजी के सदस्यों के समक्ष एक दो पेज का संशोधित दस्तावेज पेश किया जिसमें एनपीटी पर दस्तखत नहीं करने वाले भारत और पाकिस्तान के आवेदन पत्रों पर विचार करने के लिए एक नौ सूत्रीय प्रस्ताव शामिल है। गैर एनपीटी आवेदकों के लिए मसौदा के एक संशोधित संस्करण पर विचार करने के लिए गत सप्ताह वियना में एनएसजी सदस्यों की एक बैठक हुई थी।

You May Also Like

English News