केवल 11 दिन में बदल जायेगा आपका दुर्भाग्य , यदि करेगे ऐसा

ये तो सब जानते है कि जब भी हम कोई नया काम शुरू करते है तो भगवान् गणेश का नाम लेकर ही करते है . कहते है इससे काम में सफलता जरूर मिलती है . वैसे गणेश जी की आभा ही इतनी निराली है कि अगर उनका ध्यान भी किया जाये तो कुछ अशुभ हो ही नहीं सकता . फिर भी आज कल किसी के पास इतना समय नहीं होता कि वो थोड़ी देर सुकून से बैठ कर भगवान् का ध्यान भी कर सके . इसलिए हम आपको कुछ ऐसे आसान से उपाय बताते है जिससे आप भगवान् गणेश को खुश कर के उनकी कृपा भी पा सकते हो. इस उपायों से मात्र 11 दिनों में ही आपका जीवन बदल सकता है . तो चलिए जानते है कि वो आखिर वो उपाय है क्या ?

 भगवान् गणेश
१.गणेश गायत्री मन्त्र का जाप ..                             

ॐ एकदन्ताय विद्महे वक्रतुंडाय धीमहि तन्नो बुदि्ध प्रचोदयात।।        

यह गणेश जी का गायत्री मन्त्र है . वैसे जरुरी नहीं कि आप ये मन्त्र घर पर या किसी मंदिर में ही करे . यदि आप कही बाहर हो तो भी आप ये मन्त्र कर सकते है . लेकिन इस बात का ध्यान रखे कि गणेश गायत्री मन्त्र का जाप करते समय आपका मन बिलकुल शांत होना चाहिए . साथ ही कम से कम 11 दिन तक इस मन्त्र का 108 बार जाप करे . हर दिन में एक बार तो जाप करने से गणेश जी की कृपा आवश्य प्राप्त होती है . इससे आपका भाग्य भी सुधर जाता है और आपका कार्य भी बिना किसी विघ्न के संपन्न हो जाता है . इसलिए जब भी गणेश जी का मन्त्र पढ़े हमेशा शांत मन से ही पढ़े .

२.तांत्रिक गणेश मन्त्र का जाप ..                        

ॐ ग्लौम गौरी पुत्र, वक्रतुंड, गणपति गुरू गणेश।
ग्लौम गणपति, ऋद्धिपति, सिद्धिपति। मेरे करों दूर क्लेश।।

ये गणेश जी का दूसरा मन्त्र है . इसमें माता गौरी का नाम भी शामिल है इसलिए ये बेहद फलदायी भी होगा . इस मन्त्र का 11 दिन तक 108 बार जाप करने से व्यक्ति के जीवन से सभी क्लेश और विपताएं दूर हो जाती है . साथ ही अनाज, धन, मान सम्मान में समृद्धि होती है . इतना ही नहीं इस मन्त्र से खुशियां और विद्या की भी प्राप्ति होती है . इससे आपका मन हमेशा शांत रहता है . पर इस मन्त्र का जाप करते समय इस बात का ध्यान रखे कि जितने भी दिन आपको इस मन्त्र का ध्यान करना है उतने दिन सभी बुरी आदतों और चीज़ों से दूर रहना होगा . जैसे कि गुस्सा, घृणा, मांस, शराब और नशीली वस्तुओ हर चीज़ को छोड़ना जरुरी है . तभी भगवन की कृपा हो पायेगी . वैसे भी भगवान् केवल भक्तो के प्रेम से प्रसन्न होते है . इसलिए इन खास बातों का ध्यान रखे .

३.गणेश कुबेर मन्त्र ..                                          

 ॐ नमो गणपतये कुबेर येकद्रिको फट् स्वाहा।

इस मन्त्र में खास तौर पर कुबेर जी का नाम आया है . तो इससे साफ़ पता चलता है कि इस मन्त्र से क्या प्राप्त हो सकता है . जी हां यह मन्त्र धन और लक्ष्मी का प्रतीक है . यदि गणेश जी की लाल फूलों की माला से पूजा करने के बाद 11 दिन तक नियमित रूप से इस मन्त्र का जाप किया जाये तो आपको धन की प्राप्ति के नए स्त्रोत यानि नए रास्ते मिलने लगते है . साथ ही आपके जीवन में खुशियां भी दस्तक देने लगती है . इसलिए ये मन्त्र वास्तव में आपका भाग्य बदल सकता है .

यू तो गणेश जी विघ्नहर्ता है . वे हमेशा अपने भक्तो का संकट हर ही लेते है . पर कई बार अगर जीवन में कुछ खास चाहिए तो भगवान् को तो खुश करने की जरूरत पड़ती है . जैसे कि पहले घोर तपस्या करके देवताओ को प्रसन्न किया जाता था . वैसे ही आज तो केवल मन्त्रो का उच्चारण ही करना है . अब हम अपने भगवान् के लिए इतना तो कर ही सकते है . वैसे भी इसके लिए कही हिमालय जाने की जरूरत नहीं बस सच्चे मन की जरूरत है . फिर देखिये आप पर गणेश जी की कृपा जरूर बरसेगी .

 

 

You May Also Like

English News