अभी अभी: एक बार फिर से हुई भाजपा की सबसे बड़ी जीत, चारो तरफ़ ख़ुशी की लहर…

हिमाचल के भोरंज उपचुनाव में एक बार फिर भाजपा ने जीत का परचम लहरा दिया है। पूर्व शिक्षा मंत्री आईडी धीमान के निधन के बाद खाली पड़ी इस सीट पर उनके ही बेटे अनिल धीमान ने कब्जा जमा लिया है। सुबह 11 बजे तक मतगणना पूरी कर ली गई। इसके अनुसार भाजपा उम्मीदवार अनिल धीमान ने 8290 मतों से कांग्रेस उम्मीदवार प्रोमिला देवी को हरा दिया। अनिल को कुल 24434 वोट मिले जबकि प्रोमिला को 16144 मत हासिल हुए।मतगणना कुल 12 चरणों में पूरी हुई। ईवीएम से काउंटिंग पूरी होने के बाद बैलेट से पहुंचे मतों की भी गणना की गई। इसमें अनिल धीमान को विजयी घोषित कर दिया गया। अनिल धीमान पहले राउंड से ही बढ़त बनाए हुए थे और उन्होंने अंत तक इसे बरकरार रखा।

यहां देखें किस चरण में किसको कितने वोट मिले

पहला राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    2228
प्रोमिला (कांग्रेस)            864
कुसुम (आजाद)             19
पवन कुमार                 188    
रमेश डोगरा                 19
नोटा                            37

दूसरा राउंड

अनिल धीमान (भाजपा)    2240
प्रोमिला (कांग्रेस)            881
कुसुम (आजाद)            26
पवन कुमार                 149    
रमेश डोगरा                  206
नोटा                            0

तीसरा राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    2086
प्रोमिला (कांग्रेस)            1270
कुसुम (आजाद)            44
पवन कुमार                 715
रमेश डोगरा                 75
नोटा                          20

चौथे राउंड में कांग्रेस ने बनाई बढ़त

अनिल धीमान (भाजपा)    1574

प्रोमिला (कांग्रेस)            1625
कुसुम (आजाद)            20
पवन कुमार                 362
रमेश डोगरा                 32
नोटा                          12पांचवां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    1977
प्रोमिला (कांग्रेस)            1348
कुसुम (आजाद)             29
पवन कुमार                 529
रमेश डोगरा                 173
नोटा                          18

छठा राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    1747
प्रोमिला (कांग्रेस)            1201
कुसुम (आजाद)             30
पवन कुमार                 397
रमेश डोगरा                 58
नोटा                          35

सातवां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    2012
प्रोमिला (कांग्रेस)            1015
कुसुम (आजाद)             17
पवन कुमार                 413
रमेश डोगरा                 47
नोटा                          14
 

आठवां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    2138
प्रोमिला (कांग्रेस)            1756
कुसुम (आजाद)             40
पवन कुमार                 457
रमेश डोगरा                 52
नोटा                          31नौंवां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    1953
प्रोमिला (कांग्रेस)            1612
कुसुम (आजाद)             47
पवन कुमार                 304
रमेश डोगरा                 134
नोटा                         24

दसवां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    1810
प्रोमिला (कांग्रेस)            1476
कुसुम (आजाद)             50
पवन कुमार                 423
रमेश डोगरा                48
नोटा                          25

11वां राउंड
अनिल धीमान (भाजपा)    1900
प्रोमिला (कांग्रेस)            1579
कुसुम (आजाद)             52
पवन कुमार                 183
रमेश डोगरा                75
नोटा                          26

एक बार फिर कांग्रेस को मिली हार

इस चुनाव नतीजे पर सबकी नजरें टिकी हुई थी। प्रदेश के दोनों ही बड़े दल कांग्रेस और भाजपा इसे विधानसभा चुनाव का सेमीफाइनल मान रहे थे लेकिन इसमें कांग्रेस को करारी हार का सामना करना पड़ा। हांलाकि यह सीट पहले भी भाजपा के कब्जे में ही थी।
मगर इस बार कांग्रेस ने यहां नए उम्मीदवार को टिकट देकर भाजपा को कड़ी चुनौती दी थी। प्रचार के लिए सीएम वीरभद्र खुद यहां गए थे और कई रैलियां भी की। मगर ये सब काम नहीं आया और भाजपा ने एक बार फिर जीत हासिल की।

हालांकि इस हार के पीछे काफी हद तक कांग्रेस खुद भी जिम्मेदार रही क्योंकि कांग्रेस के कई बड़े नेता पहले तो चुनाव से दूरी बनाते रहे फिर ऐन मौके पर प्रचार के लिए पहुंच गए। साथ ही गुटबाजी भी कांग्रेस को ले डूबी। विधानसभा चुनाव से पहले मिली जीत से भाजपा और मजबूत हो गई है।

You May Also Like

English News