भाजपा जनता का ध्यान बंटाने में माहिर, अब नहीं सफल होगी कोई चाल: मायावती

बहुजन समाज पार्टी की अध्यक्ष मायावती लंबे समय के बाद कल देर शाम लखनऊ पहुंची। लखनऊ में अपने नये आवास में प्रवेश के बाद आज मीडिया को संबोधित किया। इस दौरान आज भी उनके निशाने पर केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार थी। 

बसपा मुखिया मायावती ने भाजपा पर पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी के नाम को भुनाने का गंभीर आरोप लगाया है। मायावती ने कहा कि अटल जी के जिंदा रहते भाजपा उनके पदचिन्हों पर जरा सा भी नही चली लेकिन उनके जाने के बाद उनका नाम लिया जा रहा है। उन्होंने कहा कि चुनाव नजदीक आते ही भाजपा के नेता अब तरह-तरह के हथकंडे अपना रहे हैं। भाजपा सरकार जनता का ध्यान बांटने के लिए रोज नए मुद्दे की तलाश में रहती है। इसके बीच वह अपनी हर बात को जनता पर थोपने के प्रयास में है। 

सुप्रीम कोर्ट के निर्देश के बाद पूर्व मुख्यमंत्री के रूप में आवंटित सरकारी आवास खाली करने के बाद मायावती ने लखनऊ में अपने आवास में प्रवेश किया है। यहां 9 माल एवेन्यू में अपने आवास पर आज उन्होंने मीडिया को बताया कि मेरी सुरक्षा को देखते हुए इस नए बंगले में आने में समय लगा।

उन्होंने कहा कि आज अपने आवास पर मैंने पार्टी के पदाधिकारियों की एक बैठक बुलाई है। आज भी यह बैठक केंद्र व उत्तर प्रदेश सरकार से दलितों, पिछड़ों, अल्पसंख्यकों को सजग करने के लिए बुलाई गई है।

मायावती ने कहा कि भाजपा पर देश की सभी पार्टी ने रक्षा सौदे में धांधली का आरोप लगाया है। भाजपा सरकार पर इतने बड़े आरोप के बाद भी अभी तक भाजपा सरकार कोई सटीक जवाब नही दे सकी है। इससे लगता है कि यह लोग भ्रष्टाचार को बढ़ाने के साथ ही अपनी सारी बातें दबाने में माहिर हो चुके हैं। बसपा सुप्रीमो मायावती ने आज प्रेसवार्ता में भाजपा पर जमकर हमला बोला है।

मायावती ने कहा कि कोर्ट कचहरी में तो दलितों की मदद करने वाले वकील और एनजीओ के साथ भी भाजपा सरकार अन्याय कर रही है। उन्होंने कहा कि दो अप्रैल की घटना के बाद कई दलितों को भाजपा वालों ने अब तक जेल में बंद कर के रखा हुआ है। इससे भी दलितों के प्रति भाजपा की मानसिकता का पता चलता है।

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश सहित अन्य भाजपा शासित राज्यों में गो-रक्षा के नाम पर मॉब लिंचिंग लोकतंत्र को कलंकित कर रहा है। भाजपा सरकार से दलित के साथ आदिवासी, पिछड़े व अल्पसंख्यक वर्ग काफी आहत है। मायावती ने कहा कि भाजपा ने सिर्फ सुनहरे दिन के सपने दिखाकर केवल पूंजीपतियों का भला किया। देश तथा प्रदेश में महिला सुरक्षा पर भाजपा की सरकारों की असफलता बिल्कुल साफ दिख रही है

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि भाजपा के जीएसटी से व्यापारी परेशान हुए है। अब तो देश में रोजगार का महासंकट व्याप्त है। डीजल व पेट्रोल की कीमतों में तेजी आने से देश की परिवहन व्यवस्था चरमरा गई है। इससे पहले इनकी नोटबंदी से अर्थव्यवस्था नीचे चली गई। रुपये की कीमत लगातार गिर रही है। मोदी सरकार ने देश में अपरिपक्व तरीके से नोटबंदी कर आपातकाल लगाया। 100 से अधिक निर्दोषों की जान चली गयी, नोटबंदी के निर्णय को आरबीआई ने खारिज कर दिया है। अब तो पता चल गया कि नोटबंदी राष्ट्रीय त्रासदी साबित हुई है। 15-20 लाख रुपये सबके खाते में देने के साथ रोजगार देने जैसे वायदों को भाजपा ऐसे गायब कर दी है, जैसे गधे के सर से सींग।

You May Also Like

English News