भारत के सख्त विरोध के बीच अटवाल ने मांगी माफी, कहा- नहीं हूं खालिस्तान समर्थक

कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो की भारत यात्रा काफी चर्चा में रही थी. उनकी यात्रा के दौरान खालिस्तानी आतंकी जसपाल अटवाल के भारत आने और उन्हें डिनर में आमंत्रित किए जाने पर भी काफी बवाल मचा था. भारत में इस कड़े विरोध के बाद अब जसपाल अटवाल ने माफी मांगी है. माफी के साथ ही अटवाल ने कहा है कि वह खालिस्तान का समर्थन नहीं करते हैं.भारत के सख्त विरोध के बीच अटवाल ने मांगी माफी, कहा- नहीं हूं खालिस्तान समर्थकगौरतलब है कि फरवरी में सात दिवसीय यात्रा पर भारत आए कनाडाई पीएम जस्टिन ट्रूडो की पत्नी सोफी के साथ अटवाल की तस्वीर सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुई थी. ये फोटो मुंबई में आयोजित एक डिनर की थी. इस तस्वीर के बाद ही इस तरह के सवाल उठे रहे थे कि आखिर किस तरह एक आतंकवादी भारत में आ सकता है.

जसपाल अटवाल ने करीब 6 पेज का बयान जारी किया है. जिसमें उन्होंने अपना माफीनामा दिया है. जसपाल अटवाल, खालिस्तानी समर्थित संगठन इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन (ISYF) के साथ जुड़ा हुआ था. अटवाल को 1986 में पंजाब सरकार में मंत्री रहे मल्कीयत सिंह सिद्धू की हत्या की कोशिश करने का दोषी पाया गया था. 

अटवाल ने अपने बयान में कहा कि उन्होंने लिबरल सांसद रणदीप से संपर्क साधा था और ट्रूडो के रिसेप्शन में शामिल होने की बात की थी. लेकिन जब ये बातें खबरें बन गईं तो वह काफी चौंक गए. उन्होंने कहा कि मेरी वजह से कनाडा के बारे में जो भी कहा गया उसके लिए वह माफी मांगते हैं. 

मैंने जो भी पाप किया उसकी सजा भुगत चुका हूं. लेकिन अब मैं किसी भी तरह से खालिस्तान का समर्थन नहीं करता हूं. अटवाल ने कहा कि कनाडा मेरा घर है और भारत मेरी जन्मभूमि है.

आपको बता दें कि अटवाल के डिनर में शामिल होने पर आपत्ति के बाद कनाडा के प्रधानमंत्री कार्यालय की तरफ से बयान जारी किया गया था. कनाडा पीएम ऑफिस ने अपने बयान में कहा था कि इस व्यक्ति को किसी भी आयोजन में आमंत्रित नहीं किया जाना चाहिए था. उसके आमंत्रण को रद्द कर दिया गया है.

You May Also Like

English News