भारत के 13वें उपराष्ट्रपति बने वेंकैया नायडू, राष्ट्रपति कोविंद ने दिलाई शपथ…

नवनिर्वाचित उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू भारत के 13वें उपराष्ट्रपति बन गए हैं. उन्होंने आज राष्ट्रपति भवन में उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली और राज्यसभा के सभापति के रूप में पदभार संभाल लिया. वह ऐसे पहले उपराष्ट्रपति हैं, जिनका जन्म स्वतंत्र भारत में हुआ. वह बतौर उपराष्ट्रपति अपना पहला भाषण भी देंगे. राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने नायडू को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई.भारत के 13वें उपराष्ट्रपति बने वेंकैया नायडू, राष्ट्रपति कोविंद ने दिलाई शपथ...आज भाजपा व आरएसएस के लिए एक बड़ा दिन, जानिए क्यों!

दिलचस्प  बात यह है कि नायडू ने हिंदी में उपराष्ट्रपति पद की शपथ ली. राष्ट्रपति भवन की ओर से आयोजित शपथ समारोह में हिस्सा लेने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,  गृहमंत्री राजनाथ और पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह भी राष्ट्रपति भवन पहुंचे. अब नायडू संसद पहुंचेंगे और औपचारिक रूप से पदभार ग्रहण करेंगे.

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि वेंकैया ऐसे पहले उपराष्ट्रपति बने हैं, जो इतने वर्षों तक इन्हीं लोगों के बीच पले-बढ़े. देश को पहले ऐसे उपराष्ट्रपति मिले, जो सदन की बारीकियों से वाकिफ हैं. वह प्रक्रिया से निकले पहले उपराष्ट्रपति हैं. मोदी ने कहा कि नायडू पहले ऐसे उपराष्ट्रपति हैं, जो आजाद भारत में पैदा हुए. उन्होंने कहा कि नायडू किसान के बेटे हैं और गांव को भलीभांति जानते हैं. वह जेपी आंदोलन से भी जुड़े रहे.

पीएम ने कहा कि नायडू कैबिनेट  में भी गांव और किसान की बात करते थे. आज सर्वोच्च पदों पर सामान्य घरों के लोग आसीन हुए हैं. आज हमने गौरवपूर्ण जिम्मेदारी वेंकैया नायडू को दी. प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना का तोहफा नायडू ने ही दिया. इसके अलावा कांग्रेस नेता गुलाब नबी आजाद ने पदभार संभालने के लिए नायडू को बधाई दी. उन्होंने कहा कि अमीरों ने भी देश की आजाादी के लिए कुर्बानी दी. ज्यसभा में धन्यवाद अभिभाषण के बाद नायडू उपराष्ट्रपति के रूप में अपना पहला भाषण देंगे. इसके अलावा बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह राज्यसभा के सदस्य पद की शपथ लेंगे. अमित शाह गुजरात से चुनाव जीतकर राज्यसभा पहुंचे हैं. 

 इससे पहले नायडू को देश का 13वां उपराष्ट्रपति चुना गया था. इस चुनाव में एनडीए की ओर से वेंकैया नायडू, तो विपक्ष से पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल एवं महात्मा गांधी के पौत्र गोपालकृष्ण गांधी मैदान में थे. यहां कुल पड़े 771 वोटों में वेंकैया नायडू को 516 वोट, तो गोपालकृष्ण गांधी के खाते में 244 वोट गए थे.

नायडू सबसे पहले अपने आवास 30 APJ अब्दुल कलाम रोड से राजघाट पहुंचे और वहां श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद वह DDU पार्क गए और वहां दीनदयाल उपाध्याय को श्रद्धांजलि दी. वह पटेल चौक पहुंचकर सरदार वल्लभभाई पटेल की स्टैच्यू पर भी श्रद्धांजलि अर्पित की. इसके बाद वह राष्ट्रपति भवन पहुंचे और पद की शपथ ली. इसके बाद करीब सुबह 10:34 बजे राज्यसभा पहुंचेगे.

loading...

You May Also Like

English News