भारत के 5 झरने जहां दिखता है प्राकृति‍क रोमांच…

 भारत में प्राकृतिक सुंदरता का भंडार भरा हुआ है और इसी को देखने के लिए दूर-दूर से सैलानी यहां आते रहते हैं. ऐसे ही खूबसूरत नजारे भारत के हर राज्य में स्थि‍त हैं. कलकल करते झरनों को देखना ऐसा ही मनोहारी दृश्य होता है. आइए हमारे साथ देखि‍ए ऐसे ही 10 झरनों का नजारा…

 1. दूध सागर, गोवा दूधसागर भारत का एकमात्र झरना है, जो दो राज्यों की सीमा पर स्थित है. गोवा-कर्नाटक बॉर्डर से मंडोवी नदी गुजरती है, जिस पर दूधसागर झरना स्थित है. पणजी से इसकी दूरी लगभग 60 किमी है. यहां मानसून के दौरान पर्यटकों का हुजूम उमड़ता है. दूधसागर झरने को ‘मिल्क ऑफ सी’ भी कहा जाता है.

 2. अथिराप्पिल्ली वाॅटरफाल, केरल केरल पहले से ही भगवान की धरती कहे जाने वाला केरल अपने मॉनसून, समुद्री किनारा, प्रकृति और वाटरफॉल्स के लिए भी मशहूर है. यहां कई खूबसूरत और शानदार वाॅटरफाल हैं, जो किसी का भी मन मोह सकते हैं. उनमें से अथिराप्पिल्ली सबसे खूबसूरत वाटरफॉल है. यहां पर 80 फीट ऊंचाई से पानी गिरता है.

 3. चित्रकूट वाॅटरफाल, छत्तीसगढ़ छत्तीसगढ़ में स्थित चित्रकूट वाटरफॉल देश का सबसे बड़ा और मनमोह लेने वाले जल प्रताप में से एक है. यह वाॅटरफाल छत्तीसगढ़ में नियाग्रा नदी इंद्रावती में जगदलपुर के पास गिरता है. यह खूबसूरत वाॅटरफाल 29 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है, जबकि इसकी चौड़ाई मौसम के अनुरूप बदलती रहती है.

 4. कोर्तल्लम वाॅटरफाल, तमिलनाडु कोर्तल्लम को दक्षिण भारत का स्पा भी कहा जाता है. यह तमिलनाडु के तिरुलेनवेली जिले में शहर के पश्चिमोत्तर घाट पर स्थित है. यह जगह भी अपने अनेकों वॉटरफाल्स की वजह से प्रसिद्ध है.

5. धौंधर वाॅटरफाल, मध्यप्रदेश यह वॉटरफाल मध्यप्रदेश के जबलपुर जिले में स्थित है. संगमरमर की चट्टानों के कण्ठ से होते हुए गिरने वाला यह जल प्रताप पवित्र नदी नर्मदा से बना है. यह विश्व प्रसिद्ध संगमरमर की चट्टानों में सबसे लोकप्रिय भारतीय पर्यटन स्थल में से एक है.

You May Also Like

English News