भारत ने पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को सीजफायर उल्लंघन पर किया तलब

भारत ने बुधवार को पाकिस्तान उच्चायोग के एक अधिकारी को समन कर पाकिस्तान की ओर से की जाने वाली बिना उकसावे की कार्रवाई की निंदा की है. भारत ने संघर्षविराम उल्लंघन में एक भारतीय सैनिक की मौत पर डिमार्शे जारी किया और इसे निंदनीय करार दिया है. विदेश मंत्रालय ने काउंसलर तारिक करीम को इस मामले में समन किया है.भारत ने पाकिस्तान उच्चायोग के अधिकारी को सीजफायर उल्लंघन पर किया तलबJ&K : त्राल में जाकिर मूसा ग्रुप के तीन अलकायदा आतंकी को मार गिराया…

पाकिस्तान की ओर से किए जा रहे संघर्ष विराम के उल्लंघन का मामला उठाते हुए भारत की ओर से इस घटना की कड़े शब्दों में निंदा की गई और कहा गया कि इस तरह जान का नुकसान बहुत निंदनीय है. मंत्रालय ने एक विज्ञप्ति में कहा कि 8 अगस्त को कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तानी बलों ने बिना उकसावे के संघर्षविराम उल्लंघन में एक भारतीय सैनिक की जान जाने का कड़ा विरोध करने वाला एक डिमार्शे (राजनयिक नोट) जारी किया गया. मंत्रालय ने नियंत्रण रेखा और अंतरराष्ट्रीय सीमा पर पाकिस्तानी बलों की ओर से बिना उकसावे के संघर्षविराम उल्लंघनों की निरंतर घटनाओं पर गंभीर चिंता व्यक्त की है.

एक जवान हुआ था शहीद

मंगलवार को जम्मू के पुंछ के कृष्णा घाटी सेक्टर में पाकिस्तान ने युद्धविराम का उल्लंघन किया है. सीमापार से होने वाली फायरिंग में बलनोई इलाके में सीमा पर तैनात सिपाही पवन हलमत शहीद हो गए थे. पाकिस्तान ने गोलीबार के अलावा भारतीय सीमा में मोर्टार और रॉकेट भी दागे. बिना किसी उकसावे के दोपहर 2:50 बजे यह गोलाबारी की गई . इसका भारतीय सेना ने मजबूती से माकूल जवाब दिया. 

बाज नहीं आया पाकिस्तान

रक्षा मंत्री अरुण जेटली ने बीते शुक्रवार को ही लोकसभा में कहा था कि पाकिस्तान की ओर से LoC पर अगस्त तक 285 सीजफायर उल्लंघन हुए हैं. वहीं 2016 में कुल 228 बार सीजफायर उल्लंघन हुआ था, इसके अलावा इंटरनेशनल बॉर्डर पर 221 बार संघर्ष विराम तोड़ा गया. उन्होंने बताया था कि सेंसर, रडार और सुरक्षा एंजेसियों के कारण भारत कई बार घुसपैठ रोकने में कामयाब रहा है.

You May Also Like

English News