भारत-पाक संबंधों में सुधार की बंधी उम्मीद : महबूबा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के प्रमुख इमरान खान को फोन कर संसदीय चुनावों में जीत पर बधाई देने के एक दिन बाद पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को उम्मीद जताई कि इससे दोनों मुल्कों के संबंधों में गर्माहट आएगी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआइ) के प्रमुख इमरान खान को फोन कर संसदीय चुनावों में जीत पर बधाई देने के एक दिन बाद पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने मंगलवार को उम्मीद जताई कि इससे दोनों मुल्कों के संबंधों में गर्माहट आएगी।   महबूबा ने यह प्रतिक्रिया इंटरनेट की माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्वीटर पर टवीट कर व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा है कि उम्मीद करती हूं कि यह कदम सुर्खियों से परे होगा। यह बात आगे तक जाएगी और भारत व पाकिस्तान के बीच संबंधों में स्थायी सुधार और मजबूती आएगी।  उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों टेलीफोन पर इमरान खान से बातचीत की और उन्हें पाकिस्तान की राष्ट्रीय एसेंबली में सबसे बड़े दल का नेता बनने पर बधाई दी थी। उन्होंने इमरान खान से बातचीत में पाकिस्तान में लोकतंत्र की जड़ें मजबूत होने की उम्मीद जताते हुए सभी पड़ोसी मुल्कों में शांति और विकास के प्रति अपने सहयोग और संकल्प को भी दोहराया।   कांग्रेस व अन्य पार्टियां जनता को भड़का रहीं : कविंद्र गुप्ता यह भी पढ़ें महबूबा मुफ्ती ने 28 जुलाई को अपनी पार्टी के 19वें स्थापना दिवस समारोह में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोदी से अपील की थी कि वह इमरान खान की दोस्ती का हाथ कबूल करें। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में नई सरकार बनेगी और नया प्रधानमंत्री होगा, जिसने भारत की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है। इमरान खान ने वार्ता की बात कही है।  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस पर सकारात्मक जवाब देना चाहिए। महबूबा ने कहा कि यह मेरा अनुरोध है कि प्रधानमंत्री को इस मौके का फायदा उठाकर इमरान खान की दोस्ती की पेशकश पर सकारात्मक जवाब देना चाहिए। पीडीपी प्रमुख ने भी इमरान को जीत की बधाई दी थी।   जम्मू-कश्मीर में चुनाव पर बंटे राजनीतिक दल यह भी पढ़ें नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने 28 जुलाई को कहा था कि केंद्र को इमरान खान के शांति प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया जतानी चाहिए। पाकिस्तान के आम चुनाव में नेशनल असेंबली में इमरान खान को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं।

महबूबा ने यह प्रतिक्रिया इंटरनेट की माइक्रो ब्लागिंग साइट ट्वीटर पर टवीट कर व्यक्त की है। उन्होंने ट्वीटर पर लिखा है कि उम्मीद करती हूं कि यह कदम सुर्खियों से परे होगा। यह बात आगे तक जाएगी और भारत व पाकिस्तान के बीच संबंधों में स्थायी सुधार और मजबूती आएगी।

उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पिछले दिनों टेलीफोन पर इमरान खान से बातचीत की और उन्हें पाकिस्तान की राष्ट्रीय एसेंबली में सबसे बड़े दल का नेता बनने पर बधाई दी थी। उन्होंने इमरान खान से बातचीत में पाकिस्तान में लोकतंत्र की जड़ें मजबूत होने की उम्मीद जताते हुए सभी पड़ोसी मुल्कों में शांति और विकास के प्रति अपने सहयोग और संकल्प को भी दोहराया।

महबूबा मुफ्ती ने 28 जुलाई को अपनी पार्टी के 19वें स्थापना दिवस समारोह में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए मोदी से अपील की थी कि वह इमरान खान की दोस्ती का हाथ कबूल करें। उन्होंने कहा था कि पाकिस्तान में नई सरकार बनेगी और नया प्रधानमंत्री होगा, जिसने भारत की तरफ दोस्ती का हाथ बढ़ाया है। इमरान खान ने वार्ता की बात कही है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस पर सकारात्मक जवाब देना चाहिए। महबूबा ने कहा कि यह मेरा अनुरोध है कि प्रधानमंत्री को इस मौके का फायदा उठाकर इमरान खान की दोस्ती की पेशकश पर सकारात्मक जवाब देना चाहिए। पीडीपी प्रमुख ने भी इमरान को जीत की बधाई दी थी।

नेशनल कांफ्रेंस के अध्यक्ष फारूक अब्दुल्ला ने 28 जुलाई को कहा था कि केंद्र को इमरान खान के शांति प्रस्ताव पर सकारात्मक प्रतिक्रिया जतानी चाहिए। पाकिस्तान के आम चुनाव में नेशनल असेंबली में इमरान खान को सबसे ज्यादा सीटें मिली हैं।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com