भारत पे कूटनीतिक हमले की तैयारी में पाकिस्तान, बनाई विशेष समिति

पाकिस्तान इन दिनों भारत पर कूटनीतिक हमला करने की रणनीति तैयार कर रहा है। इस रणनीति के तहत पाकिस्तान कश्मीर भुद्दा भुनाना चाहता है। पाकिस्तानी अखबार डॉन की खबर के मुताबिक पाकिस्तान ने कश्मीर को लेकर उच्च-स्तरीय समिति का गठन किया है।

ये समिति कश्मीर में भारत द्वारा किए जा रहे कथित अपराधों के आंकड़े इकट्ठा कर उसे अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने रखेगी। इसके साथ ही समिति विदेशों में रह रहे उन कश्मीरियों से भी संबंध स्थापित करने की कोशिश करेगी जो भारत की खिलाफत कर रहे हैं।

ब्रेकिंग न्‍यूज: चीन को आया गुस्सा पाकिस्‍तान को दे डाली बड़ी धमकी

वहीं कश्मीर में रह रहे उन लोगों से भी समिति बात करेगी जो पीएम नरेंद्र मोदी की नीतियों के खिलाफ हैं। इस समिति के जरिए पाकिस्तान सोशल मीडिया पर भी कश्मीर विवाद पर भारत के खिलाफ माहौल बनाने की कोशिश करेगा।

द डॉन की खबर के मुताबिक कश्मीर को लेकर बनाई गई विशेष समिति में रक्षा मंत्रालय, आंतरिक सूचना मंत्रालय, सैन्य ऑपरेशन्स निदेशालय, आईएसआई और खूफिया विभाग के अधिकारियों को शामिल किया गया है।

मंगलवार को पाकिस्तानी संसद के भीतर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ के सलाहकार सरताज अजीज ने कहा कि ये विशेष समिति एक व्यावहारिक ‘कश्मीर नीति’ तैयार करेगी। अजीज ने स्पष्ट किया कि जरूरत पड़ने पर समिति के सदस्यों को बढ़ाया जाएगा।

अजीज ने बताया कि इस समिति के अध्यक्ष सूचना सचिव हैं। यह विशेष समिति तथ्यों को जुटाएगी और भारत द्वारा किए जाने वाले कथित दुष्प्रचार अभियान को खत्म करने का काम करेगी।

कथित दखलंदाजी के सबूत जुटा रहा पाक

अजीज ने पाकिस्तानी संसद को बताया कि सूचना-तकनीक मंत्रालय से सोशल मीडिया का इस्तेमाल करके जम्मू-कश्मीर विवाद को रेखांकित करने की रणनीति तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय बिरादरी के सामने कमजोर पड़ रहे अपने पक्ष को मजबूत करने के लिए इस विशेष समिति का गठन किया है। अजीज ने संसद में ये भी कहा कि समिति के जरिए एक मीडिया रणनीति भी तैयार की जाएगी।

इस रणनीति के तहत पाकिस्तान कश्मीर में ‘आजादी’ के चल रहे संघर्ष को दुनिया के सामने रखेगा। पाकिस्तान भारत को अंतरराष्ट्रीय समुदाय के सामने गलत साबित करना चाहता है। इसके लिए पाकिस्तान आंतरिक मामलों में कथित तौर पर भारत की कथित दखलंदाजी से संबंधित तथ्यों को भी जुटा रहा है।

 
 

You May Also Like

English News