भारी बारिश के चलते बदरीनाथ हाईवे पर चट्टान टूटने के कारण यात्रा में आयी रुकावट…

मौसम विभाग के अनुमान के मुताबिक बुधवार सुबह से राजधानी देहरादून सहित हरिद्वार व आसपास के इलाकों में तैज बौछारें पड़ीं। वहीं मंगलवार रात तेज बौंछारों के बीच बदरीनाथ हाईवे पर चट्टान टूट गई, जिससे यात्रा रोक दी गई।भारी बारिश के चलते बदरीनाथ हाईवे पर चट्टान टूट ने के कारण रोकी गई यात्रा...

आतंकी खतरे के बीच अमरनाथ यात्रियों का पहला जत्था जम्मू से रवाना

उत्तराखंड के कई इलाकों में बुधवार तड़के से मूसलाधार बारिश का दौर जारी है। वहीं बदरीनाथ हाईवे पर बाजपुर में चट्टान टूटने से हाईवे बाधित हो गया है। बीती रात करीब 12 बजे हाईवे बंद हो गया था।

जिसे बीआरओ के मजदूरों ने बुधवार सुबह 8 बजे खोल दिया था। लेकिन मलबा हटाने के लिए दोबारा सुबह साढ़े नौ बजे वाहनों की आवाजाही रोक दी गई। निर्माणाधीन पुलिया भी मलबे से क्षतिग्रस्त हो गयी है।

वहीं, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुनोत्री यात्रा सुचारु है। उत्तराखंड में पौड़ी, चमोली, रुद्रप्रयाग, उत्तरकाशी सहित कई स्थानों पर रात भर बारिश होती रही। बारिश से तापमान में गिरावट आई है।

कुमाऊं के पिथौरागढ़ और बागेश्वर में मलबा आने से आधा दर्जन सड़कों पर यातायात बाधित है। इसके अलावा अलकनंदा, मंदाकिनी, काली और गोरी नदी का जलस्तर भी बढ़ गया है।

अगले 24 घंटे के दौरान भारी बारिश का अलर्ट

कई दिनो की भीषण उमस के बाद बरसा झमा झम पानी, शहर के पहाड़पुर तिराहे पर जल जमाव।

वहीं प्रदेश के ज्यादातर हिस्सों में अगले 24 घंटे के दौरान बहुत भारी बारिश की संभावना है। इसको देखते हुए मौसम विभाग ने अलर्ट जारी कर जरूरी व्यवस्थाएं दुरुस्त करने के निर्देश दिए हैं।

खासकर चारधाम यात्रा मार्ग पर विशेष सतर्कता बरतने को कहा गया है। इसके अलावा मौसम विभाग ने एडवाइजरी जारी कर शासन को भी चेताया है।

मौसम विभाग के निदेशक बिक्रम सिंह ने बताया कि प्रदेश के ज्यादातर इलाकों में अगले 24 घंटों में भारी बारिश का अनुमान है। विशेषकर चारधाम यात्रा मार्ग के ज्यादातर हिस्सों में तेज बारिश होगी। इसको देखते हुए विशेष एडवाइजरी जारी कर शासन को जरूरी व्यवस्थाएं करने के निर्देश दिए हैं।

You May Also Like

English News