मंदिर में अन्य धर्म के प्रचार में लिप्त कर्मचारीयो पर एक्शन…

हिन्दू धर्म की आड़ में किसी अन्य धर्म का प्रचार और वो भी मंदिर परिसर में. ये बात आंध्र प्रदेश के तिरुमाला जिले में स्थित बालाजी मंदिर की प्रबंधन समिति को सिरे से नागवार गुजरी है. इस के चलते आंध्र प्रदेश के तिरुमाला जिले में स्थित बालाजी मंदिर की प्रबंधन समिति ‘दूसरे धर्म का अनुसरण करने पर’ अपने 40 कर्मचारियों के खिलाफ सख्त एक्शन लेने की तैयारी करने जा रही है.मंदिर में अन्य धर्म के प्रचार में लिप्त कर्मचारीयो पर एक्शन...

प्रबंधन की ओर से मंदिर के इन 40 गैर-हिंदू कर्मचारियों को कारण बताओ नोटिस जारी करने की तैयारी चल रही है. माना जा रहा है कि कर्मचारियों का निलंबन भी किया जा सकता है. शुरुआती जांच में यह जानकारी भी मिली है कि नियमों के खिलाफ तिरुमाला तिरुपति देवस्थान में कुल 44 गैर हिंदुओं नौकरी दी गई है. इनमें साल 1989 से 2007 के बीच मंदिर में 37 गैर हिंदू कर्मचारियों की नियुक्ति की गई थी, जबकि 7 अन्य बाद में विभिन्न पदों पर रखे गए थे. तिरुपति देवस्थान की प्रबंध समिति को कई श्रद्धालुओं और मठों की ओर से सूचना मिली थी कि मंदिर के कुछ कर्मचारियों द्वारा परिसर के आसपास दूसरे धर्मों की गतिविधियों का प्रचार-प्रसार किया जा रहा है. इसे देखते हुए प्रबंधन ने ऐसी गतिविधियों में शामिल कर्मचारियों पर कार्रवाई करने का फैसला लिया है.

गौरतलब है कि पिछले दिनों तिरुमाला तिरुपति देवस्थान की एक महिला कर्मचारी का विडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था. इस विडियो में मंदिर की एक कर्मचारी को परिसर के पास दूसरे धर्म की प्रार्थना करते हुए दिखाया गया था. जिसके बाद सोशल मीडिया और सार्वजनिक रूप से इसकी काफी आलोचना हुई थी. कई हिंदू संगठनों और मठों ने तिरुमाला तिरुपति देवस्थान के प्रबंधन से उस कर्मचारी की शिकायत भी की थी.

You May Also Like

English News