मजेंटा लाइन के उद्घाटन में नहीं दिया केजरीवाल को न्योता तो AAP ने मांगे अपने हिस्से के पैसे

आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ मजेंटा लाइन मेट्रो को हरी झंडी दिखाकर इसका शुभारंभ करेंगे। नोएडा और साउथ दिल्ली को आपस में जोड़ने वाली इस मेट्रो लाइन के उद्घाटन में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को बुलाया ही नहीं गया है।मजेंटा लाइन के उद्घाटन में नहीं दिया केजरीवाल को न्योता तो AAP ने मांगे अपने हिस्से के पैसे93 साल के हुए राजनीति के ‘अटल’, जन्मदिन की बधाई देने पहुंचे PM मोदी

अगर ध्यान दिया जाए तो इस लाइन पर आने वाले अधिकतर मेट्रो स्टेशन्स दिल्ली में है और इस वजह से इस लाइन में दिल्ली सरकार ने बराबर का निवेश किया है। लेकिन इस आयोजन में केजरीवाल को ना बुलाना बड़ा मुद्दा बन गया है।

इसी को मुद्दा बनाते हुए आम आदमी पार्टी के नेताओं ने पीएम मोदी के सामने दिल्ली सरकार का 50 प्रतिशत हिस्सा लौटाने की मांग भी रख दी है। इस मुद्दे पर आप नेता लगातार पीएम मोदी पर हमलावर हैं।

लौटाएं द‌िल्ली के ह‌िस्से के पैसे

आप नेता संजय सिंह ने कहा कि, ‘राजनीतिक विरोध की वजह से इतनी नफरत बढ़ गयी है कि पीएम एक चुने हुए मुख्यमंत्री संग बैठना पसंद नहीं कर रहे। इससे पहले जब फरीदाबाद से मेट्रो का उद्घाटन हुआ था, तब भी अरविंद केजरीवाल को नहीं बुलाया गया था।’

वहीं सौरभ भारद्वाज ने मांग रख दी है कि, ‘फेज 3 में 46 हजार करोड़ रुपए खर्च हुए हैं और उसमें से केंद्र सरकार ने महज 460 करोड़ खर्च किए हैं। पीएम इस मेट्रो लाइन के तमाम हिस्सेदारों के 40 हजार करोड़ लौटा दें और खुद उद्घाटन करें। पीएम मोदी को फेज 1 और फेज 2 का खर्च भी लौटा दें ताकि पुराने तमाम स्टेशन का उदघाटन भी केंद्र सरकार खुद कर सके।’

You May Also Like

English News