मतदान के दिन वोटरों को लाने और ले जाने पर रोक

15 फरवरी को होने वाले मतदान के दिन ट्रैफिक रोजमर्रा की तरह चलेगा। मतदान के दिन वोटरों को लाने और ले जाने पर रोक रहेगी। प्राइवेट वाहन से लोग वोट डालने जा सकेंगे। डीजीपी एमए गणपति ने कहा कि बार्डर पर जरूर चेकिंग की जाएगी, ताकि अवांछनीय तत्व जिले की सीमा में प्रवेश न कर सके। संदिग्ध लोगों की आईडी का सत्यापन कराने के निर्देश भी दिए गए हैं।
मतदान के दिन वोटरों को लाने और ले जाने पर रोक
मतदान के दिन ट्रैफिक पर रोक रहेगी या नहीं, दिन भर इसे लेकर संशय बना रहा। पुलिस कप्तान इस पर निर्देश मांगते रहे। डीजीपी ने देर शाम बताया कि मतदान के दिन रोजमर्रा की तरह ट्रैफिक चलेगा। मतदान केंद्र के आसपास जरूर सख्ती रहेगी। पुलिस को स्पष्ट रूप से कहा गया है कि ऐसे वाहनों पर सख्ती से रोक लगाई जाए, जिसका प्रयोग मतदाताओं को लाने और ले जाने में किया जा रहा हो।खासतौर से अंतरराज्यीय और जिले की सीमाओं पर जरूर सख्ती रहेगी। वाहनों में आने वाले लोगों के बारे में जानकारी की जाएगी। आदेश के अनुपालन में एसएसपी स्वीटी अग्रवाल ने यूपी और हिमाचल प्रदेश की सीमा से लगे आशारोड़ी, कुल्हाल, त्यूणी, धर्मावाला आदि बैरियरों पर सख्त चेकिंग के लिए कहा है।

गलियों में घूमने वाले कुत्तों की सर्जरी कर रहा एक सिरफिरा, कइयों की मौत!

ध्यान रहे, वर्दी पर कोई दाग न लग पाए
पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों ने सोमवार को पुलिस लाइन में सुरक्षा बलों, जोनल और सेक्टर मजिस्ट्रेटों को निष्पक्ष और शांतिपूर्ण मतदान कराने के टिप्स दिए। पुलिस कर्मियों से कहा गया है कि वो ऐसा कोई काम न करे, जो वर्दी पर दाग का कारण बन जाए। काम में निष्पक्षता साफ तौर से झलकनी चाहिए। 

जिलाधिकारी रविनाथ रमन और वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक स्वीटी अग्रवाल ने कहा कि पोलिंग बूथों पर तैनात अधिकारी और कर्मचारी निष्पक्षता से अपने दायित्व का निर्वाह करे। यह भी बताया कि ड्यूटी के दौरान किस तरह की सावधानियां बरती जाए। बैरियरों पर सख्ती से चेकिंग करने के साथ संदिग्धों लोगों की आईडी आदि लेने को कहा गया।

बूथ पर यदि किसी तरह का विवाद होता है तो पीठासीन अधिकारी तत्काल सेक्टर मजिस्ट्रेट को इसकी जानकारी दे। दूरस्थ इलाकों में ईवीएम खराब होने की आशंका के मद्देनजर वहां अतिरिक्त मशीन उपलब्ध कराई गई है। अपर जिलाधिकारी हरबीर सिंह, एसपी सिटी अजय सिंह, एसपी देहात श्वेता चौबे, एसपी क्राइम तृप्ति भट्ट, एएसपी निहारिका भट्ट, लोकेश्वर सिंह के अलावा चुनाव पर्यवेक्षक और पैरा मिलिट्री के अधिकारी मौजूद रहे। 

जिले में 35 जोन 214 सेक्टर
दस विधानसभाओं में होने वाले चुनाव को लेकर जिले को 35 जोन और 214 सेक्टरों में बांटा गया है। 965 मतदान केन्द्रों में 1725 बूथ बनाए गए है। 30 फ्लाइंग दस्ते और 10 सर्विलांस टीम बनाई गई है। प्रत्येक थाने में 20 क्यूआरटी टीम बनाई गई है। जिले में 17 बैरियर लगाए गए है। इनमें 10 अंतर्राज्यीय और सात जनपदीय बैरियर शामिल है।  

पंजाब की चुनावी अरेबियन नाइट्स, सोशल मीडिया पर ऑडियो-विजुअल प्रचार

चुनाव में रहेगा यह पुलिस
चुनाव ड्यूटी में दस राजपत्रित अधिकारी, 31 निरीक्षक, 260 दारोगा, 184 हैड कांस्टेबल, 1986 कांस्टेबल, 2650 होमगार्ड, 440 होमगार्ड, 247 चौकीदार, 62 वन रक्षक, तीन कंपनी एक प्लाटून पीएसी, अर्द्धसैनिक बलों की 18 कंपनी तैनात रहेगी।

दूसरे दिन चकराता के लिए रवाना हुई 80 पार्टियां
सोमवार को भी चकराता के लिए 80 पोलिंग पार्टियों को रवाना किया गया। इसके साथ ही सभी 1725 बूथों की पोलिंग पार्टियों को उनके बस्ते बांटे गए। सभी पार्टियां मंगलवार को अपने-अपने बूथों के लिए निकल जाएंगी। रविवार को चकराता के लिए 23 पार्टियां पहले ही रवाना हो चुकी हैं।

सोमवार को रेंजर्स ग्राउंड में चकराता के रिटर्निंग अधिकारी प्रत्यूष मिश्रा ने कर्मचारियों को ड्यूटी वितरित की। जिलाधिकारी रविनाथ रमन की देखरेख में कार्य संपन्न किया गया। जिलाधिकारी ने बताया कि मतदान पार्टियों को केंद्रों तक पहुंचाने के लिए वाहनों की व्यवस्था की जा चुकी है। इसके साथ ही सभी पोलिंग पार्टियों के मतदान केंद्र पर पहुंचने की भी रिपोर्ट ली जा रही है। जिलाधिकारी ने कहा कि निर्वाचन समाप्ति के 72 घंटे पूर्व शराब के सभी गोदामों से निकासी पूर्णत: प्रतिबंधित की जा चुकी है। निगरानी टीम शराब, धनराशि एवं अन्य अवांछित सामग्री पर कड़ी निगरानी रखते हुए जब्त करने की कार्रवाई कर रही है। उन्होंने अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व वीर सिंह बुदियाल को रेंजर्स ग्राउंड के आसपास पोलिंग पार्टियों के अधिक आवागमन के कारण अन्य व्यक्तिगत वाहनों के प्रवेश को प्रतिबंधित करने के निर्देश दिए।

धर्मपुर में विशेष फोकस
धर्मपुर विधानसभा के कर्मचारियों को तीन बार ट्रेनिंग दी जा चुकी है। सोमवार को भी जहां बाकी कर्मचारियों को ड्यूटी आवंटित की जा रही थी तो धर्मपुर विधानसभा की पोलिंग पार्टियों को ट्रेनिंग दी जा रही थी। ट्रेनिंग दे रहे जिला पंचायत राज अधिकारी एम जफर खान ने बताया कि कहीं कर्मचारी कुछ भूल न जाए, इसलिए उन्हें बार-बार वीवी पैट की जानकारी दी जा रही है। बताया कि मतदान के समय 31 वीवीपैट रिजर्व में रहेंगी। कहीं भी परेशानी होने पर रिजर्व की वीवीपैट मौके पर पहुंचाई जाएंगी। कहा कि धर्मपुर विधानसभा में वोटिंग वीवी पैट मशीन से ही होनी है।

loading...

You May Also Like

English News