मध्यप्रदेशः पुलिस ने किसानों की पिटाई, NHRC ने दिया नोटिस

मध्यप्रदेश से मानवता को शर्मसार करने वाली घटना सामने आई है। मामला टीकमगढ़ जिले का है, जहां पुलिस पर किसानों की पिटाई करने और फिर उन्हें निर्वस्त्र करने का आरोप है। बताया जा रहा है कि जिले के किसान सूखा, बिजली और पानी की समस्या के चलते प्रदर्शन कर रहे थे। मध्यप्रदेशः पुलिस ने किसानों की पिटाई, NHRC ने दिया नोटिसअभी-अभी हुआ बड़ा हादसा: भारतीय वायुसेना का हेलीकॉप्टर क्रैश, 5 की मौत, 1 घायल

पुलिस की इस कार्रवाई के बाद एनएचआरसी ने मध्यप्रदेश सरकार को इस मामले में नोटिस जारी किया है। नोटिस में चीफ सेक्ट्रेटरी और पुलिस डीजी दोनों से अगले चार हफ्तों में जवाब मांगा गया है। किसानों का मानना था कि इससे प्रशासन उनकी समस्या को गंभीरता से लेगा और मामले का हल निकाला जा सकेगा। किसानों की मांग थी कि सरकार उन्हें फसल खराब होने का मुआवजा दे।

मौके पर मौजूद किसानों का आरोप है कि वहां मौजूद पुलिसकर्मियों ने पहले तो उन्हें पीटा और फिर पुलिस स्टेशन ले गए। वहां किसानों के कपड़े उतरवा दिए गए।

किसान को बुलाया आतंकवादी 

पुलिस की इस कथित कार्रवाई की जानकारी होने पर राज्य गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने जांच के आदेश दिए हैं। रिपोर्ट्स के मुताबिक किसानों ने बताया कि उनका किसी भी राजनीतिक पार्टी से कोई संबंध नहीं है। उन्हे बेरहमी से पीटा गया और कपड़े उतारने को कहा गया।

किसानों ने बताया कि उनमें से एक पुलिसक्रमी ने तो उन्हें आतंकवादी तक कहा। हालांकि टीकमगढ़ पुलिस ने इस बात से इनकार किया है कि किसानों को पुलिस स्टेशन में पीटा गया। वहीं किसानों को निर्वस्त्र करने की बात पर अधिकारियों ने बताया कि जांच के आदेश दे दिए गए हैं। 

 गौरतलब है कि लगभग चार महीने पहले भी राज्य में किसानों ने अपनी मांग को लेकर प्रदर्शन किया था। इस प्रदर्शन के दौरान पुलिस की गोलीबारी में मंदसौर जिले के पांच किसानों की मौत हो गई थी। 

You May Also Like

English News