मध्य प्रदेश में आफत की बारिश, अगले 24 घंटे बरकरार है खतरा

मध्यप्रदेश की राजधानी भोपाल समेत पूरे राज्य में हो रही भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त हो गया है. हालात ये हैं कि ज्यादातर नदी नाले उफान पर होने से कई जगहों पर सड़क संपर्क कट गया.  

राजधानी भोपाल में बीते 24 घंटो के दौरान 154 मिलीमीटर बारिश दर्ज हुई है, जिसके बाद कई जगहों पर जलजमाव की शिकायतें आईं. इसके अलावा आगामी 24 घंटो के लिए मध्यप्रदेश के ज्यादातर जिलों में भारी बारिश की चेतावनी भी जारी की गई है. भोपाल मौसम केंद्र के मुताबिक 30 से ज्यादा जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की गई है.

मौसम विभाग का अलर्ट

मौसम विभाग ने जिन जिलों में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है उनमें ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर, श्योपुरकलां, भिंड, मुरैना, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, मंडला, बालाघाट, सिवनी, छिंदवाड़ा, टीकमगढ, छतरपुर, पन्ना, दमोह, सागर, विदिशा, रायसेन, भोपाल, नीमच, मंदसौर, रतलाम और झाबुआ शामिल है. इसके अलावा उज्जैन, इंदौर, भोपाल, होशंगाबाद, जबलपुर, सागर, रीवा, शहडोल, ग्वालियर, और चंबल संभाग के अलावा नीमच, मंदसौर, रतलाम, झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी जिलों में वर्षा या गरज चमक के साथ बौछारें पड़ेगी.

क्यों हो रही है बारिश?

भोपाल स्थित मौसम विभाग के मुताबिक मध्य प्रदेश और भोपाल के मौसम को प्रभावित करने वाले प्रमुख कारक हैं, उत्तरी मध्य प्रदेश के मध्य भाग में एक कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है, साथ ही हवा के ऊपरी हिस्से में 7.6 किलोमीटर की ऊंचाई तक चक्रवाती हवा का घेरा भी बना हुआ है. जिसकी वजह से अगले 24 घंटों में फिर भारी बारिश होने की संभावना है.

You May Also Like

English News