मरने से पहले इस शख्स ने किया ऐसा काम, अब पूरे परिवार को भुगतना पड़ेगा अंजाम…

मरने से पहले जहां इंसान अपने परिवार के भविष्य की चिंता करता है वहीं इस शख्स ने अपने परिवार के लिए कुछ ऐसा कर दिया जिसके बारे में जानकर आप भी चौंक जाएंगे। दरअसल, यह जाते-जाते अपने परिवार के लिए मुसीबतों की ऐसी खाई खोद गया है जिससे बच पाना बेहद मुश्किल साबित हो रहा है।

यह एेसा मामला है जहां एक बैंक प्रबंधक को ये मालूम हुआ कि वह कुछ दिनों का ही मेहमान है। उसने जाते-जाते अपनी आखिरी इच्छा पूरी करनी चाही जिसके लपेटे में अब उसका परिवार भी आ गया है। मामला उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले का है। यहां सर्व यूपी ग्रामीण बैंक के चंदवतपुर शाखा प्रबंधक रहे रावेंद्र प्रकाश श्रीवास्तव को जब पता चला कि वो एक गंभीर बीमारी से जूझ रहा है और कुछ ही दिनों का मेहमान है तो उसने 90.43 लाख रुपए का गबन कर डाला।

इस रकम को उसने पत्नी, बच्चों व रिश्तेदारों के खातों में ट्रांसफर कर दिया ताकि उसके जाने के बाद किसी भी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े। रावेंद्र की मौत के बाद अब उसके पत्नी-बच्चों को यह गबन भारी पड़ गया है। रावेंद्र के पूरे परिवार के खिलाफ गबन, धोखाधड़ी सहित अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। इस बाबत बैंक शाखा चंदवतपुर के प्रबंधक अभय प्रताप सिंह ने कोतवाली में दी है।इसमें उसने कहा कि नौ जून 2017 से 30 जनवरी 2018 तक नगर कोतवाली के जानकीनगर उपरहितनपुरवा निवासी रावेंद्र प्रकाश सर्व यूपी ग्रामीण बैंक शाखा चंदवतपुर में प्रबंधक पद पर तैनात थे।

बीमार होने पर जांच के बाद डॉक्टरों ने उसे बताया कि वह छह-सात महीने ही जिंदा रहेगा। अपने घर परिवार की चिंता के चलते उसने ऐसा किया। प्रभारी निरीक्षक हर्षवर्धन सिंह के मुताबिक रावेन्द्र ने 34 जनधन खाताधारकों की इजाजत के बगैर किसान केसीसी खाता खोला और 90.43 रुपए कर्ज मंजूर कर गबन किया।

लखनऊ में उसने एक फ्लैट भी बुक करा दिया। इसके बाद 30 जनवरी को रावेन्द्र की मौत हो गई। इसी बीच नए आए शाखा प्रबंधक अभय प्रताप सिंह को गड़बड़ी की आशंका हुई तो उन्होंने जांच कराई। तब यह मामला खुलकर सामने आया । अब रावेंद्र के किए इस जुर्म की सजा उसके परिवार को भुगतनी होगी।

You May Also Like

English News