मरीज के बगल गिरी छत की सीलिंग, बाल-बाल बचा

सिविल अस्पताल में हुआ हादसा, बगैर जांच कराए लौटने को मजबूर हुए लोग लखनऊ (जागरण संवाददाता)। राजधानी के सिविल अस्पताल में शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अचानक एक्सरे रूम में छत की सीलिंग टूट कर गिरने से अफरातफरी मच गई। इस दौरान वहां एक मरीज का एक्सरे किया जा रहा था। हालांकि मरीज बाल-बाल बच गया और एक बड़ा हादसा टल गया।सिविल अस्पताल में हुआ हादसा, बगैर जांच कराए लौटने को मजबूर हुए लोग लखनऊ (जागरण संवाददाता)। राजधानी के सिविल अस्पताल में शुक्रवार सुबह करीब साढ़े दस बजे अचानक एक्सरे रूम में छत की सीलिंग टूट कर गिरने से अफरातफरी मच गई। इस दौरान वहां एक मरीज का एक्सरे किया जा रहा था। हालांकि मरीज बाल-बाल बच गया और एक बड़ा हादसा टल गया।  घटना के बाद तत्काल अल्ट्रासाउंड व एक्सरे का काम रोककर गैलरी समेत कमरे को पूरी तरह मरीजों से खाली करा दिया गया। इसके बाद मजदूरों को बुलाकर आसपास की सारी सीलिंग को निकाल दिया गया। करीब 90 फीसद मरीज देर तक इंतजार करने के बाद बगैर अल्ट्रासाउंड व एक्सरे कराए ही लौट गए। स्टाफ ने मरीजों को अगले दिन आने के लिए कह दिया। इससे कई मरीजों का ऑपरेशन व एक्सरे भी लटक गया। हालांकि बाद में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एके सिंह के कहने पर दोपहर एक बजे दोबारा अल्ट्रासाउंड व एक्सरे सेवा शुरू कर दी गई, लेकिन तब तक अधिकांश मरीज जा चुके थे। लौटने वाले मरीजों ने अस्पताल प्रबंधन के प्रति गुस्सा जाहिर किया। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. एके सिंह ने बताया कि बिल्डिंग में कहीं-कहीं सीलिंग आने की समस्या है। इसके अलावा चूहे भी कूदते रहते हैं। कहीं अंदर घुसे रहे होंगे। गनीमत रही किसी को चोट नहीं लगी। एहतियात के तौर पर आसपास की पूरी सीलिंग निकलवा दी गई। अब इसे दोबारा लगवाया जाएगा। हैदरगढ़ के मरीज अरुण कुमार ने बताया कि पैर में चोट लगी है। एक्सरे के लिए आए हुए थे। कह रहे हैं कल आना। आज आना ही बेकार रहा। निलमथा से आई मरीज अनीता ने बताया कि मैं निलमथा से आई हूं। मेरे पेट में गांठ है। उसका ऑपरेशन होना था। इसलिए अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट जरूरी है। अब मेरा काम कई दिन के लिए और लटक गया। मोहनलालगंज से आए मरीज रामआसरे के पुत्र सुरेन्द्र ने बताया कि मेरे पिता जी को झटके की समस्या है। डॉक्टर ने उनके चेस्ट का एक्सरे कराने को कहा था। यहां गेट ही बंद कर दिया है। कल आने को बोल रहे हैं। सिद्धौली के मरीज अनूप कुमार ने बताया कि मैंने गुरुवार को एक्सरे कराया था, आज रिपोर्ट लेकर डॉक्टर को दिखानी थी। गेट बंद कर दिया। रिपोर्ट भी नहीं दे रहे। अब तो डॉक्टर भी नहीं मिलेंगे। मरीज सुरजीत कुमार ने बताया कि मुझे पीठ का एक्सरे कराना था। अब इसके लिए दोबारा आना होगा। आज बड़ी मुश्किल से छुंट्टी मिली थी। मरीज सोनी सिंह ने बताया कि मुझे एक्सरे कराना है। चार-पांच दिन से अस्पताल में पड़ी हूं। इसके पहले दूसरी जांच होनी थी। आज एक्सरे हो जाता तो ठीक था। अब सोमवार तक रुकना पड़ेगा।

घटना के बाद तत्काल अल्ट्रासाउंड व एक्सरे का काम रोककर गैलरी समेत कमरे को पूरी तरह मरीजों से खाली करा दिया गया। इसके बाद मजदूरों को बुलाकर आसपास की सारी सीलिंग को निकाल दिया गया। करीब 90 फीसद मरीज देर तक इंतजार करने के बाद बगैर अल्ट्रासाउंड व एक्सरे कराए ही लौट गए। स्टाफ ने मरीजों को अगले दिन आने के लिए कह दिया। इससे कई मरीजों का ऑपरेशन व एक्सरे भी लटक गया। हालांकि बाद में मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ. एके सिंह के कहने पर दोपहर एक बजे दोबारा अल्ट्रासाउंड व एक्सरे सेवा शुरू कर दी गई, लेकिन तब तक अधिकांश मरीज जा चुके थे। लौटने वाले मरीजों ने अस्पताल प्रबंधन के प्रति गुस्सा जाहिर किया। सिविल अस्पताल के सीएमएस डॉ. एके सिंह ने बताया कि बिल्डिंग में कहीं-कहीं सीलिंग आने की समस्या है। इसके अलावा चूहे भी कूदते रहते हैं। कहीं अंदर घुसे रहे होंगे। गनीमत रही किसी को चोट नहीं लगी। एहतियात के तौर पर आसपास की पूरी सीलिंग निकलवा दी गई। अब इसे दोबारा लगवाया जाएगा। हैदरगढ़ के मरीज अरुण कुमार ने बताया कि पैर में चोट लगी है। एक्सरे के लिए आए हुए थे। कह रहे हैं कल आना। आज आना ही बेकार रहा। निलमथा से आई मरीज अनीता ने बताया कि मैं निलमथा से आई हूं। मेरे पेट में गांठ है। उसका ऑपरेशन होना था। इसलिए अल्ट्रासाउंड रिपोर्ट जरूरी है। अब मेरा काम कई दिन के लिए और लटक गया। मोहनलालगंज से आए मरीज रामआसरे के पुत्र सुरेन्द्र ने बताया कि मेरे पिता जी को झटके की समस्या है। डॉक्टर ने उनके चेस्ट का एक्सरे कराने को कहा था। यहां गेट ही बंद कर दिया है। कल आने को बोल रहे हैं। सिद्धौली के मरीज अनूप कुमार ने बताया कि मैंने गुरुवार को एक्सरे कराया था, आज रिपोर्ट लेकर डॉक्टर को दिखानी थी। गेट बंद कर दिया। रिपोर्ट भी नहीं दे रहे। अब तो डॉक्टर भी नहीं मिलेंगे। मरीज सुरजीत कुमार ने बताया कि मुझे पीठ का एक्सरे कराना था। अब इसके लिए दोबारा आना होगा। आज बड़ी मुश्किल से छुंट्टी मिली थी। मरीज सोनी सिंह ने बताया कि मुझे एक्सरे कराना है। चार-पांच दिन से अस्पताल में पड़ी हूं। इसके पहले दूसरी जांच होनी थी। आज एक्सरे हो जाता तो ठीक था। अब सोमवार तक रुकना पड़ेगा।

English News

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com