मलेशिया के पूर्व पीएम नजीब रजाक के यहां छापा, 273 मिलियन डॉलर का सामान जब्त

भ्रष्टाचार के आरोप में सत्ता से बेदखल हुए मलेशिया के पूर्व पीएम नजीब रजाक के खिलाफ कार्रवाई जारी है। इसी कड़ी में उनके 6 ठिकानों पर पड़े छापे में 273 मिलियन डॉलर का संपत्ति जब्त हुआ है। मलेशियाई पुलिस ने इसे इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी रिकवरी करार दिया है।भ्रष्टाचार के आरोप में सत्ता से बेदखल हुए मलेशिया के पूर्व पीएम नजीब रजाक के खिलाफ कार्रवाई जारी है। इसी कड़ी में उनके 6 ठिकानों पर पड़े छापे में 273 मिलियन डॉलर का संपत्ति जब्त हुआ है। मलेशियाई पुलिस ने इसे इतिहास में अब तक की सबसे बड़ी रिकवरी करार दिया है।  छापे के बाद पुलिस ने बताया कि निष्‍कासित मलेशियाई नेता नजीब रजाक के 6 विभिन्‍न आवासों से कैश समेत गहने और कीमती लग्‍जरी हैंडबैग्‍स जब्‍त हुए हैं, इनकी कीमत 273 मिलियन डॉलर है। पुलिस प्रमुख अमर सिंह ने बताया, ‘जब्‍त किए गए सभी सामान की कुल कीमत 910 मिलियन से 1.1 बिलियन रिंगिट है। जो 225 मिलियन डॉलर से 273 मिलियन डॉलर के बराबर है।'  इससे पहले भी पुलिस ने रजाक के घर से इतना सामान बरामद किया था कि उन्हें ढोने के लिए पांच ट्रक लगाने पड़े। पुलिस के अनुसार, उस वक्‍त जब्‍त नकदी में 26 तरह की करेंसी शामिल थी। नजीब पर सरकारी कंपनी 1 एमडीबी से 70 करोड़ डॉलर (करीब 4,760 करोड़ रुपये) अपने निजी अकाउंट में स्थानांतरित करने का आरोप है। इस साल मई माह में हुए चुनाव में नजीब रजाक के नेतृत्व वाले बीएन गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा। जिसके बाद नई महातिर सरकार बनी और इन्‍होंने नजीब व उनके परिवार के देश छोड़ने पर रोक लगा दी।  1957 में आजादी के बाद से मलेशिया में बीएन गठबंधन सत्ता में थी। इस बार के चुनाव में पहली बार बीएन गठबंधन सत्ता से बाहर हुई। महातिर भी बीएन गठबंधन का हिस्सा रहने के दौरान मलेशिया के प्रधानमंत्री रहे थे। हालांकि बाद में उन्होंने बीएन गठबंधन से नाता तोड़ लिया था।

छापे के बाद पुलिस ने बताया कि निष्‍कासित मलेशियाई नेता नजीब रजाक के 6 विभिन्‍न आवासों से कैश समेत गहने और कीमती लग्‍जरी हैंडबैग्‍स जब्‍त हुए हैं, इनकी कीमत 273 मिलियन डॉलर है। पुलिस प्रमुख अमर सिंह ने बताया, ‘जब्‍त किए गए सभी सामान की कुल कीमत 910 मिलियन से 1.1 बिलियन रिंगिट है। जो 225 मिलियन डॉलर से 273 मिलियन डॉलर के बराबर है।’

इससे पहले भी पुलिस ने रजाक के घर से इतना सामान बरामद किया था कि उन्हें ढोने के लिए पांच ट्रक लगाने पड़े। पुलिस के अनुसार, उस वक्‍त जब्‍त नकदी में 26 तरह की करेंसी शामिल थी। नजीब पर सरकारी कंपनी 1 एमडीबी से 70 करोड़ डॉलर (करीब 4,760 करोड़ रुपये) अपने निजी अकाउंट में स्थानांतरित करने का आरोप है। इस साल मई माह में हुए चुनाव में नजीब रजाक के नेतृत्व वाले बीएन गठबंधन को हार का सामना करना पड़ा। जिसके बाद नई महातिर सरकार बनी और इन्‍होंने नजीब व उनके परिवार के देश छोड़ने पर रोक लगा दी।

1957 में आजादी के बाद से मलेशिया में बीएन गठबंधन सत्ता में थी। इस बार के चुनाव में पहली बार बीएन गठबंधन सत्ता से बाहर हुई। महातिर भी बीएन गठबंधन का हिस्सा रहने के दौरान मलेशिया के प्रधानमंत्री रहे थे। हालांकि बाद में उन्होंने बीएन गठबंधन से नाता तोड़ लिया था।

You May Also Like

English News