मल्होत्रा पान वाले पर बदमाशों ने किया जानलेवा हमला

sandwa
लखनऊ , 7 अक्टूबर । गोमतीनगर के विश्वासखण्ड जैसी पॉश कालोनी में बुधवार की देर रात आईटन कार सवार बदमाशों ने एक बंद पड़े घर पर धावा बोल दिया। इस बीच पड़ोस में रहने वाले पान दुकानदार अपने घर पहुंचे तो पड़ोसी के बंद पड़े घर के बाहर कार देख वहीं खड़े हो गये। इस बीच बंद पड़े घर से चार से पांच बदमाश बाहर निकले और आईटन कार में बैठकर भाग निकले। पान दुकानदार ने भी अपनी कार से उनका पीछा कर लिया। फन माल के पास बदमाशों ने दुकानदार को रोक लिया और हॉकी, डंडे व राड से सिर पर वारकर अधमरा कर दिया और सड़क के किनारे फेंक कर भाग निकले। घायल दुकानदार को इलाज के लिए एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया गया है। फिलहाल पुलिस वारदात में शामिल बदमाशों की तलाश में जुटी है।
विश्वासखण्ड के 2,80 मकान नम्बर पश्चिम बंगाल के रहने वाले पीके मलिक का घर है। बताया जाता है कि पीके मलिक की मौत हो चुकी है। कई महीनों से उनका घर बंद पड़ा है। पीके मलिक के घर के पड़ोस में ही प्रतिष्ठिïत पान दुकानदार पंकज मल्होत्रा भी अपने परिवार के साथ रहते हैं। बताया जाता है कि बुधवार की रात करीब एक बजे पंकज अपनी दुकान से घर पहुंचे। पीके मलिक के घर के बाहर एक आईटन कार खड़ी थी। पंकज ने अपने घर की घंटी बजायी। घंटी की आवाज सुन पंकज की मां सुधा ने दरवाजा खोला। आईटन कार देख पंकज ने अपनी मां से कार के बारे में पूछा तो सुधा ने बताया कि शायद पड़ोसी के घर कोई आया होगा। अभी पंकज अपनी मां सुधा से बातचीत कर ही रहे थे कि पीके मलिक के घर के अंदर से चार से पांच बदमाश बाउंड्री फांदकर बाहर निकले और आईटन कार में बैठकर भागने लगे। बदमाशों को भागते देख पंकज ने भी अपनी कार स्टार्ट की और बदमाशों का पीछा कर लिया। बदमाश कार लेकर लोहिया पथ होते ही फन माल की तरफ भागे। पंकज भी बदमाशों के पीछे-पीछे फन मॉल तक पहुंच गये। फन मॉल के पास बदमाशों ने अपनी कार रोक लिया। इसी बीच पंकज भी अपनी कार से वहां पहुंच गया। बदमाशों ने पंकज की कार को देखते ही उसको रोक लिया। इसके बाद बदमाशों ने बिना कोई बातचीत के ही पंकज पर लाठी डंडे, हॉकी व राड से हमला कर दिया। बदमाशों ने पंकज के सिर पर ताबड़तोड़ वार कर उसको अधमरा कर दिया। इसके बाद बदमाशों ने खून से लथपथ पंकज को सड़क के किनारे फेंका और वहां से भाग निकले। राहगीरों की मदद से पंकज किसी तरह अपने घर पहुंचे। इसके बाद परिवार वालों ने उनको इलाज के लिए राम मनोहर लोहिया अस्पताल में भर्ती कराया। घटना की सूचना पाकर मौके पर गोमतीनगर पुलिस भी पहुंच गयी। राम मनोहर लोहिया अस्पताल में इलाज के बाद डाक्टर ने पंकज को ट्रामा सेंटर रिफर कर दिया। वहीं परिवार वालों ने पंकज को इलाज के लिए एक प्राइवेट अस्पताल में भर्ती कराया है। इस पूरी घटना के बारे में सीओ गोमतीनगर सत्यसेन यादव का कहना है कि पीके मलिक के घर में किसी तरह सबकुछ अपनी जगह पर मौजूद है। कहीं से कोई ताला तक नहीं टूटा है। कार सवार बदमाश पीके मलिक के घर के अंदर घुस नहीं पाये थे। पुलिस अब सीसीटीवी कैमरों की मदद से कार सवार बदमाशों के बारे में पता लगा रही है। पुलिस इस बात को लेकर भी छानबीन कर रही है कि कहीं ऐसा तो नहीं कार सवार बदमाश का पान दुकानदार पंकज से कोई विवाद हो। सीओ ने बताया कि पुलिस हर पहलू पर छानबीन कर रही है।

 
 
 
 

You May Also Like

English News