महंगा हुआ कच्चा तेल, भारत पर होंगे गंभीर असर

नई दिल्ली (प्रवीण द्विवेदी)। जियो पॉलिटिकल टेंशन के कारण क्रूड में उबाल पहले से ही जारी था, लेकिन अब ईरान पर अमेरिका की हालिया सख्ती ने ब्रेंट क्रूड की कीमतों को भड़का दिया है। क्रूड की कीमतों का बढ़ना सीधे तौर पर भारत के लिए एक बुरी खबर है। ऐसा इसलिए क्योंकि बढ़ता क्रूड भारत में पेट्रोल एवं डीजल की कीमतों में इजाफा कर देगा। जिसका असर महंगाई के तौर पर सामने आएगा। वर्तमान में डब्ल्यूटीआई क्रूड के दाम 70.83 डॉलर प्रति बैरल और ब्रेंट क्रूड के दाम 76.69 डॉलर प्रति बैरल हैं।

ईरान पर अमेरिका की सख्ती के मायने:

केडिया कमोडिटी के प्रमुख अजय केडिया ने बताया कि ईरान पर अमेरिका की ओर से सख्ती के संकेत भारतीय बाजार के लिहाज से काफी नकारात्मक है। केडिया ने कहा कि ईरान पर प्रतिबंधों को 6 महीने के लिए टाल दिया गया था लेकिन अमेरिका उस पर प्रतिबंध लगाकर ही मानेगा। वहीं 4 जुलाई को अमेरिका का स्वतंत्रता दिवस है और इसके बाद ही अमेरिका की तरफ से किसी बड़े फैसले की घोषणा की जा सकती है। लेकिन जैसा कि ईरान पर अमेरिका की सख्ती का सवाल है, इससे सप्लाई को लेकर तो कोई खास चिंता की बात नहीं है लेकिन बाजार के लिए बेहतर खबर नहीं है।

You May Also Like

English News