महबूबा का विवादित बयान, पुलिस व आतंकियों को एक ही कसौटी पर रखा

पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने पुलिसकर्मियों के अगवा परिजनों की घटनाओं पर विवादित बयान दिया है। महबूबा ने पुलिस और आतंकियों को एक ही कसौटी पर रखते हुए ट्वीट किया।पूर्व मुख्यमंत्री व पीडीपी अध्यक्ष महबूबा मुफ्ती ने पुलिसकर्मियों के अगवा परिजनों की घटनाओं पर विवादित बयान दिया है। महबूबा ने पुलिस और आतंकियों को एक ही कसौटी पर रखते हुए ट्वीट किया।   उन्होंने लिखा, आतंकियों और पुलिस का एक दूसरे के परिजनों को तंग करना गलत है। इससे हालात और खराब हो रहे हैं। परिवारों को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए। परिवार वालों का इस पर कोई नियंत्रण नहीं है। दोनों गुटों के परिजन बेकसूर हैं और उन्हें केवल इस कारण कि वह पुलिस या आतंकी के परिजन हैं, तंग करना मानवता के विपरीत है। हमें ऐसी हरकतों से बाज आना चाहिए।  उन्होंने कहा कि वह प्रार्थना कर रही हैं कि अगवा करने वालों को बुद्धि आए।वहीं आतंकी संगठन युनाइटेड जेहाद काउंसिल ने सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों के परिजनों को परेशान करने की कड़ी निंदा की। आतंकी संगठन के महासचिव शेख जमीलुल रहमान ने अपने एक बयान में कहा कि ऐसा करने से यदि सुरक्षाबल यह समझते हैं कि इससे उनके हौसले पस्त होंगे तो यह उनकी भूल हैं।  –– ADVERTISEMENT ––     दो सितंबर को कश्मीर के लोग शांति के लिए दौड़ेंगे यह भी पढ़ें उमर ने अलगाववादियों को लताड़ा :  पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने 11 युवाओं को आतंकियों द्वारा अगवा करने पर घाटी की स्थिति को चिंताजनक करार दिया। उमर ने ट्वीट कर अलगाववादियों का नाम लिए बिना कहा कि ऐसी घटनाओं पर लोगों को अपना रहनुमा कहलाने वाले लोग क्यों खामोश हैं।   रुपये के लेन-देन में दो लोगों को बंधक बना कर पीटा यह भी पढ़ें उमर ने कहा कि सुरक्षाबलों द्वारा की गई किसी भी गलती पर यह कथित रहनुमा हो-हल्ला मचाते हैं, लेकिन आतंकियों द्वारा पुलिस व उनके परिजनों को अगवा करने पर इन्होंने चुपी साध रखी है।

उन्होंने लिखा, आतंकियों और पुलिस का एक दूसरे के परिजनों को तंग करना गलत है। इससे हालात और खराब हो रहे हैं। परिवारों को निशाना नहीं बनाया जाना चाहिए। परिवार वालों का इस पर कोई नियंत्रण नहीं है। दोनों गुटों के परिजन बेकसूर हैं और उन्हें केवल इस कारण कि वह पुलिस या आतंकी के परिजन हैं, तंग करना मानवता के विपरीत है। हमें ऐसी हरकतों से बाज आना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वह प्रार्थना कर रही हैं कि अगवा करने वालों को बुद्धि आए।वहीं आतंकी संगठन युनाइटेड जेहाद काउंसिल ने सुरक्षाबलों द्वारा आतंकियों के परिजनों को परेशान करने की कड़ी निंदा की। आतंकी संगठन के महासचिव शेख जमीलुल रहमान ने अपने एक बयान में कहा कि ऐसा करने से यदि सुरक्षाबल यह समझते हैं कि इससे उनके हौसले पस्त होंगे तो यह उनकी भूल हैं।

उमर ने अलगाववादियों को लताड़ा :

पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने 11 युवाओं को आतंकियों द्वारा अगवा करने पर घाटी की स्थिति को चिंताजनक करार दिया। उमर ने ट्वीट कर अलगाववादियों का नाम लिए बिना कहा कि ऐसी घटनाओं पर लोगों को अपना रहनुमा कहलाने वाले लोग क्यों खामोश हैं।

उमर ने कहा कि सुरक्षाबलों द्वारा की गई किसी भी गलती पर यह कथित रहनुमा हो-हल्ला मचाते हैं, लेकिन आतंकियों द्वारा पुलिस व उनके परिजनों को अगवा करने पर इन्होंने चुपी साध रखी है।

You May Also Like

English News