जानिए: महादेव के इस मंदिर में है 200 ग्राम वाला गेहूं का दाना

भारत में सभी धर्मों के लोग मिलजुल कर एक साथ रहते हैं. जाहिर है यहां कई तरह के तीर्थस्थान भी होंगे. इनमें से कुछ तो इतने दुर्गम स्थानों पर हैं कि वहां जाने का एक अलाग ही रोमांच होता है. यहां की ऊंची चढ़ाई, हरी भरी वादियां और झरने सभी का मन मोह लेते हैं. जोखिम के बाद भी लोगों की आस्था उन्हें यहां तक खींच ही लाती हैये भी पढ़े: शिव की प्रतिमा ‘आदियोगी’ गिनीज बुक में शामिल, बनाया ये रिकॉर्ड…

ऐसे ही एक मंदिर है जिसके बारे में जानकर आपको हैरानी होगी. उसके बारे में जाने के बार आपकी वहां जाने की जिज्ञासा बढ़ जाएंगी. हिमाचल के एक गांव में महाभारत-कालीन भगवान महादेव का एक मंदिर है. यह शिव मंदिर करसोगा घाटी के एक छोटे से ममेल नामक गांव में स्थित है. माना जाता है कि यह मंदिर करीब 5000 वर्ष से भी अधिक पुराना है.

इस मंदिर की खास बात यह हैं कि इस मंदिर में 200 ग्राम वजनी गेहूं का दाना रखा हुआ है. यह गेंहूं का दाना हमेशा पुजारी के संरक्षण में रहता है, जो मंदिर के भीतर ही शीशे के एक पारदर्शी बॉक्स के अन्दर रखा हुआ है. इसे भी पांडवों के काल-खंड का समझा जाता है.

इस मंदिर की ऐसी मान्यता हैं कि यहां आए सभी भक्तों की सभी मुरादें पूरी हो जाती हैं. इस मंदिर को ‘ममलेश्वर महादेव’ मंदिर के नाम से जाना जाता है.

लोगों का मानना हैं कि पांडवों ने अपने अज्ञातवास का कुछ समय इसी स्थान पर बिताया था माना जाता है कि उस काल में गेहूं एवं अन्य खाद्य सामग्रियों के आकार आज की तुलना में काफी बड़े होते थे

You May Also Like

English News