महिला हॉकी टीम ने दिखाया दम, और बन गई एशियन चैम्पियन

सिंगापुर। भारतीय महिला हॉकी टीम ने शनिवार को चीन को हराकर पहली बार एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी का खिताब जीत लिया। दीपिका के खेल के अंतिम मिनिट में किए गए गोल के दम पर भारत ने फाइनल में चीन को 2-1 से पराजित किया।

महिला हॉकी टीम ने दिखाया दम, और बन गई एशियन चैम्पियन

दीप ग्रेस एक्का ने खेल के 13वें मिनट में मिली पेनल्टी को गोल में तब्दील कर भारत का 1-0 की बढ़त दिला दी। 44वें मिनट में झोंग मेंगलिंग ने शानदार मैदानी गोल दागकर चीन को 1-1 की बराबरी दिलाई। मैच अंतिम मिनट में था और लग रहा था कि विजेता का फैसला पेनल्टी शूटआउट से होगा।

ये भी पढ़े:> किसी ने कहा शरारती तो किसी ने गदाधारी, विराट

मैच खत्म होने से 20 सेकंड पहले भारत को पेनल्टी कॉर्नर मिला और दीपिका ने रिबाउंड पर गोल कर दिया। हालांकि अंपायर ने इसे गोल करार देने के लिए समय लिया, लेकिन अंततः फैसला भारत के पक्ष में आया और वह पहली बार चैंपियन बनने में कामयाब रहा।

इसके साथ ही भारतीय महिलाओं ने लीग मैच में शुक्रवार को चीन से मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया। दीवाली पर पुरुषों ने मलेशिया के कुआंतान में गत चैंपियन पाकिस्तान को पटखनी देकर खिताब जीता था। उसके छह दिन बाद ही महिलाओं ने यह उपलब्धि हासिल कर देशवासियों को जश्न मनाने का एक और मौका दे दिया। पिछले (2013) संस्करण में भारतीय टीम जापान से हारकर उपविजेता रही थी।

इस मौके पर देश के मुखिया पीएम नरेंद्र मोदी ने भी महिला टीम को बधाई दी, “एशियाई चैंपियंस ट्रॉफी जीतने वाली हमारी भारतीय महिला हॉकी टीम को बधाई। यह भारतीय हॉकी के लिए ऐतिहासिक क्षण है”।

You May Also Like

English News