माँ की सेहत के लिए फायदेमंद होता है बच्चे को दूध पिलाना

एक लड़की के लिए मां बनना बहुत ही सुखद एहसास होता है. मां बनने के बाद बच्चे को दूध पिलाने में मां को सबसे ज्यादा खुशी मिलती है. यह बात तो सभी जानते हैं कि एक बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए मां का दूध कितना जरूरी होता है. नवजात शिशु को स्तनपान करवाने से उसे सभी प्रकार के पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है. पर क्या आपको पता है कि बच्चे को दूध पिलाने से सिर्फ बच्चे को ही नहीं बल्कि मां को भी बहुत सारे फायदे मिलते हैं. आज हम आपको स्तनपान के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं. एक लड़की के लिए मां बनना बहुत ही सुखद एहसास होता है. मां बनने के बाद बच्चे को दूध पिलाने में मां को सबसे ज्यादा खुशी मिलती है. यह बात तो सभी जानते हैं कि एक बच्चे के संपूर्ण विकास के लिए मां का दूध कितना जरूरी होता है. नवजात शिशु को स्तनपान करवाने से उसे सभी प्रकार के पोषक तत्वों की प्राप्ति होती है. पर क्या आपको पता है कि बच्चे को दूध पिलाने से सिर्फ बच्चे को ही नहीं बल्कि मां को भी बहुत सारे फायदे मिलते हैं. आज हम आपको स्तनपान के कुछ फायदों के बारे में बताने जा रहे हैं.   1- एक रिसर्च के अनुसार बच्चे को दूध पिलाने से उसे स्टमक इंफेक्शन, सांस संबंधी समस्याएं और किसी भी प्रकार का इन्फेक्शन नहीं होता है. कई बार नवजात शिशुओं में डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएं देखने को मिलती है. ऐसे में मां का दूध बच्चे को इन सभी बीमारियों से बचा कर रखता है.   2- मां का दूध बच्चे के लिए एक सुरक्षा कवच की तरह होता है. जिससे बच्चा किसी भी तरह की एलर्जी से बचा रहता है. जो बच्चे मां की दूध की जगह गाय या बकरी का दूध पीते हैं वह वह जल्दी एलर्जी और इन्फेक्शन का शिकार हो जाते हैं.   3- स्तनपान से बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर बनती है और साथ ही उनका बौद्धिक विकास भी अच्छे से होता है. जो बच्चे बचपन में मां का दूध पीते हैं उन्हें युवावस्था में मोटापे की समस्या नहीं होती है.   4- स्तनपान  सिर्फ बच्चे के लिए ही नहीं बल्कि मां के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. बच्चे को दूध पिलाने से मां का तनाव कम होता है. ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान महिलाओं के शरीर से ऑक्सीटोसिन हार्मोन बाहर निकल जाते हैं जिससे उसका शारीरिक और मानसिक तनाव दूर हो जाता है.

1- एक रिसर्च के अनुसार बच्चे को दूध पिलाने से उसे स्टमक इंफेक्शन, सांस संबंधी समस्याएं और किसी भी प्रकार का इन्फेक्शन नहीं होता है. कई बार नवजात शिशुओं में डायबिटीज, कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएं देखने को मिलती है. ऐसे में मां का दूध बच्चे को इन सभी बीमारियों से बचा कर रखता है. 

2- मां का दूध बच्चे के लिए एक सुरक्षा कवच की तरह होता है. जिससे बच्चा किसी भी तरह की एलर्जी से बचा रहता है. जो बच्चे मां की दूध की जगह गाय या बकरी का दूध पीते हैं वह वह जल्दी एलर्जी और इन्फेक्शन का शिकार हो जाते हैं. 

3- स्तनपान से बच्चों की प्रतिरक्षा प्रणाली बेहतर बनती है और साथ ही उनका बौद्धिक विकास भी अच्छे से होता है. जो बच्चे बचपन में मां का दूध पीते हैं उन्हें युवावस्था में मोटापे की समस्या नहीं होती है. 

4- स्तनपान  सिर्फ बच्चे के लिए ही नहीं बल्कि मां के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है. बच्चे को दूध पिलाने से मां का तनाव कम होता है. ब्रेस्ट फीडिंग के दौरान महिलाओं के शरीर से ऑक्सीटोसिन हार्मोन बाहर निकल जाते हैं जिससे उसका शारीरिक और मानसिक तनाव दूर हो जाता है.

You May Also Like

English News