मानसून सत्रः पीएम ने किया किसानों को नमन करते हुए कहा- राष्ट्रहित में मिलकर करें काम

मानसून सत्र शुरू होने पहले संसद के बाहर पत्रकारों से बात करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि मॉनसून सत्र जीएसटी की सफल वर्षा के साथ नई सुगंध और नई उमंग से भरा होगा। उन्होंने कहा कि सारे किसानों को नमन करते हुए कहा कि इस सत्र में देश को राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति मिलेंगे। मानसून सत्रः पीएम ने किया किसानों को नमन करते हुए कहा- राष्ट्रहित में मिलकर करें काम

उन्होंने कहा कि गर्मी के बाद, पहली वर्षा एक नई सुगंध मिट्टी में भर देती है, वैसे यह मानसून सत्र जीएसटी की सफल वर्षा के कारण, पूरा सत्र नई सुगंध और नई उमंग से भरा हुआ होगा। जब देश के सभी राजनीतिक दल, सभी सरकारें सिर्फ और सिर्फ राष्ट्रहित के तराजू पर तोल करके निर्णय करती हैं, तो कितना महत्वपूर्ण राष्ट्रहित का काम होता है, वो जीएसटी में सफल और सिद्ध हो चुका है। ‘Growing Stronger Together’ यह जीएसटी की स्पिरिट का दूसरा नाम है। यह सत्र भी उस जीएसटी स्पिरिट के साथ आगे बढ़े।

चीनी अख़बार ग्लोबल टाइम्स का लेख, भारत-चीन-म्यांमार में दिलचस्प होगा संवाद

यह सत्र अनेक रूप से महत्वपूर्ण है। 15 अगस्त को आजादी के सात दशक यात्रा पूर्ण कर रहे हैं। 9 अगस्त को सत्र के दौरान ही अगस्त क्रांति के 75 साल हो रहे हैं। ‘क्वीट इंडिया’ मुवमेंट के 75 साल का यह अवसर है। एक प्रकार से राष्ट्र जीवन के अत्यंत महत्वपूर्ण घटनाओं से भरा हुआ यह कालखंड है और इसलिए स्वाभाविक है कि देशवासियों का ध्यान हमेशा की तरह इस मानसून सत्र पर विशेष रहेगा।

जब हम मानसून सत्र का प्रारंभ कर रहे हैं तो उस प्रांरभ में, हम देश के उन किसानों को नमन करते हैं जो इस ऋतु में कठोर परिश्रम करके देशवासियों के खाद्य सुरक्षा का इंतजाम करते हैं और उन्‍हीं को नमन करते हुए यह सत्र का प्रारंभ होता है। इस मानसून सत्र में मुझे विश्वास है कि सभी राजनीतिक दल, सभी सांसद गण राष्ट्रहित के महत्वपूर्ण फैसले ले करके, उत्तम स्तर की चर्चा करके, हर विचार में वैल्यू एडिशन करने का प्रयास, हर व्यवस्था में वैल्यू एडिशन का प्रयास हम सब मिल करके करेंगे, ऐसा मेरा पूरा विश्‍वास है।

#WATCH PM Modi addresses media ahead of the beginning of Monsoon Session of the Parliament https://t.co/I9ZPIhumgn

— ANI (@ANI_news) July 17, 2017

संसद सत्र शुरु होने की पूर्व संध्या पर राज्यसभा में कांग्रेस के नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा कि सिक्किम में चीनी सीमा पर तनाव बढ़ गया है। इसके लिए चीन जिम्मेदार है। देश की सुरक्षा का मामला होने की वजह से इसे संसद में जरूर उठाया जाएगा। कश्मीर के हालात पर आजाद ने कहा कि सरकार ने वहां बातचीत के सारे रास्ते बंद कर दिये हैं। यहां तक कि कोई एक झरोखा भी नहीं खुला है। कश्मीर में राजनीतिक घुटन का माहौल है।

भारत में भगोड़ा घोषित हो चुके विजय माल्या को 3.5 करोड़ डॉलर नहीं देगी डायाजियो कंपनी, बकाया भी वसूलेगी

कांग्रेस ने कहा कि संसद में भीड़ के हमले में निर्दोषों की हत्या, कृषि संकट व किसान आत्महत्या जैसे मसले को विपक्ष जोरशोर से उठायेगा। गुलाम नबी आजाद ने कहा कि कांग्रेस सदन की कार्यवाही में बाधा डालने की पक्षधर नहीं है। लेकिन इसके लिए सरकार को आगे बढ़कर इन मुद्दों पर चर्चा कराने की अनुमति देनी चाहिए। विपक्षी दलों की बैठक में कांग्रेस व वामदलों समेत अन्य विपक्षी पार्टियों के नेताओं ने सरकार पर निशाना साधा।

सोमवार को संसद में लोकसभा और राज्यसभा की कार्यवाही दोनों सदनों के वर्तमान सदस्यों के निधन होने की वजह से श्रद्धांजलि देने के बाद दिनभर के लिए स्थगित हो जाएगी। सर्वदलीय बैठक में सरकार ने विपक्ष से दोनों सदनों में पेश होने वाले विधेयकों को पारित कराने के लिए सहयोग की अपील की। कई विधायी कार्यो के साथ दो दर्जन से अधिक विधेयक पारित कराने के लिए पेश किये जाएंगे। राष्ट्रपति व उपराष्ट्रपति चुनावों कई मुद्दों पर विपक्ष के 18 दलों के बीच परस्पर सहमति बनी हुई है।

You May Also Like

English News