माफिया मुख्तार के लिए मायावती ने छीने तीन प्रत्याशियों के टिकट

बसपा सुप्रीमो मायावती ने मऊ की दो व गाजीपुर की एक सीट पर पूर्व में घोषित प्रत्याशियों के टिकट वापस ले लिए हैं। इससे पूर्वांचल के बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी सहित उनके परिवार के दो अन्य सदस्यों को बसपा में शामिल कर टिकट दिया जाना पक्का माना जा रहा है। बसपा सुप्रीमो कभी भी इसका एलान कर सकती हैं।
माफिया मुख्तार के लिए मायावती ने छीने तीन प्रत्याशियों के टिकट

देखे वीडियो लखनऊ के बाबा किस तरह औरतो को अपनी हवस के जाल में फंसाते है…

ऐसे में बसपा मुस्लिम मतदाताओं का ठोस समर्थन पाने के लिए नई रणनीति पर जुटी है। बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी व उनके परिवार को बसपा में शामिल करने की सोच इसी रणनीति का हिस्सा है।

इसके लिए मायावती ने मऊ जिले की मऊ व घोसी सीट के पूर्व घोषित प्रत्याशियों का टिकट वापस ले लिया है। मऊ के प्रत्याशी मनोज कुमार राय, घोसी के प्रत्याशी वसीम इकबाल व गाजीपुर की मोहम्मदाबाद से प्रत्याशी विनोद कुमार राय ने ‘अमर उजाला’ से बातचीत में स्वीकार किया कि बसपा सुप्रीमो मायावती ने उन्हें अलग-अलग बुलाया था और टिकट वापस लेने की जानकारी दे दी है।

अलग रणनीति बनाने में जुटे हैं प्रत्याशी

सूत्रों का कहना है कि जिन प्रत्याशियों का टिकट वापस लिया गया है, उनमें मनोज राय व विनोद राय अपने-अपने समर्थकों से बात कर अगली रणनीति बनाने में जुट गए हैं। वजह, इन दोनों की राजनीति ही अंसारी परिवार के खिलाफ सियासत की रही है। ये अगला क्या कदम उठाते हैं, इस पर लोगों की नजरें टिकी होंगी।

स्मार्टफोन और प्रेशरकुकर पाने वाले ही वोट दे देंगे तो बन जाएगी सरकार: अख‌िलेश

इसके अलावा सियासी गलियारों में दो पूर्व मंत्रियों व और एक पूर्व केंद्रीय मंत्री के भी बसपा से तार जोड़े जाने की अटकलें हैं। बसपा के सूत्र इनके संपर्क में होने से इन्कार नहीं कर रहे हैं।

मुस्लिम प्रत्याशियों का शतक पूरा करेगी बसपा

मायावती ने 97 सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशियों को उतारने का एलान किया था। मुख्तार अंसारी, उनके बेटे अब्बास अंसारी और भाई सिगबतुल्ला अंसारी को टिकट देने के बाद मुस्लिम प्रत्याशियों की संख्या 100 हो जाएगी।यह कुल विधानसभा क्षेत्रों की करीब 25 फीसदी हो जाएगी। विधानसभा चुनाव में इतनी बड़ी तादाद में इसके पहले शायद ही कभी किसी दल ने ‌मु‌स्लिमों को प्रत्याशी बनाया होगा। यह संख्या सूबे में मुस्लिम आबादी के अनुपात में ज्यादा होगी।

समीकरण बदलने से टिकट वापस

मऊ सदर के प्रत्याशी मनोज कुमार राय ने बताया कि बहनजी से मंगलवार को मुलाकात हुई थी। उन्होंने कहा-प्रदेश में राजनीतिक समीकरण बदले हैं। इसकी वजह से वह उनका टिकट वापस ले रही हैं।
हालांकि उन्होंने यह नहीं बताया कि उनकी जगह किसे टिकट देंगी। राय ने बताया कि बहनजी ने टिकट दिया था, वह वापस ले सकती हैं। यह उनका अधिकार है। बताते चलें, मुख्तार अंसारी मऊ सदर से सिटिंग विधायक हैं।घोसी से अब्बास अंसारी को देंगे टिकट

वसीम इकबाल ने बताया कि उन्हें मंगलवार को लखनऊ कार्यालय से निर्देश मिला था कि बुधवार को पहुंचना है। बुधवार को पहुंचा तो बहनजी से मुलाकात कराई र्गई। बहनजी ने कहा -तुम चुनाव लड़ने में असमर्थ हो, मुझे सरकार बनानी है।तुम्हारा टिकट वापस लिया जा रहा है। घोसी से टिकट अब्बास अंसारी को दिया जाएगा। अब्बास, विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे हैं। मैंने बहनजी को आश्वस्त किया कि वह पार्टी के साथ हैं। वह स्वार्थ में चुनाव लड़ने नहीं आए थे। चुनाव में पूरी मदद करेंगे।

मोहम्मदाबाद से अल्पसंख्यक को लड़ाना है

गाजीपुर जिले के मोहम्मदाबाद से मुख्तार के भाई सिगबतउल्ला सिटिंग विधायक हैं। यहां से बसपा ने विनोद कुमार राय को प्रत्याशी घोषित कर रखा है। विनोद ने बताया कि बहनजी से मुलाकात हुई।
उन्होंने कहा कि उनका टिकट वापस लिया जा रहा है। मैंने वजह पूछी तो उन्होंने कहा कि मोहम्मदाबाद सीट से किसी अल्पसंख्यक को लड़ाना है।विनोद ने कहा, मैंने बहनजी से यह भी कहा कि आपकी सोच गुंडों-माफियाओं के खिलाफ रही है। तो उन्होंने कहा कि सपा-कांग्रेस का गठबंधन हुआ है। अल्पसंख्यकों को संदेश देने के लिए यह जरूरी हो गया है।

 

You May Also Like

English News