मायावती ने कहा- सपा-बसपा में फूट डालने के लिए बीजेपी ने हरवाया बसपा प्रत्याशी

उत्तर प्रदेश राज्यसभा चुनाव में हारने के बाद शनिवार को बसपा सुप्रीमो मायावती ने मीडिया को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने अपने नौवें प्रत्याशी को जिताने के लिए पूरी सरकारी व्यवस्था को लगा दिया। भय का एक ऐसा मौहौल बनाया गया जिसके चलते कुछ क्रॉस वोटिंग भी हुई।मायावती ने कहा- सपा-बसपा में फूट डालने के लिए बीजेपी ने हरवाया बसपा प्रत्याशी

बीजेपी के नौवें कैंडिडेट की जीत को अनैतिक बताते हुए उन्होंने कहा कि इससे बीजेपी फूलपुर और गोरखपुर में हार की भरपाई नहीं कर सकती।

गौरतलब है कि शुक्रवार को संपन्न हुए राज्यसभा चुनाव में बसपा प्रत्याशी को हराकर बीजेपी ने अपने आठ के बजाय नौ प्रत्याशी राज्यसभा में भेज दिए। वहीं, सपा की जया बच्चन ने राज्यसभा की सीट सुरक्षित कर ली।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी ने बसपा प्रत्याशी को जानबूझकर हराकर सपा और बसपा के बीच फूट डालने का प्रयास किया है। लेकिन, उनकी इस साजिश से दोनों पार्टियों के बीच आई नजदीकी में तिल भर भी असर पड़ने वाला नहीं है।

इस दौरान उन्होंने कांग्रेस, सपा और बसपा को वोट देने वाले सभी विधायकों का आभार व्यक्त किया। अखिलेश यादव के प्रयास की उन्होंने सराहना की। लेकिन उन्होंने राजभैया जैसे लोगों से सावधान रहने की नसीहत भी दी। उन्होंने कहा कि यदि अखिलेश राजा भैया के झूठे आश्वासन पर ध्यान देने के बजाए बसपा प्रत्याशी को जिताने को लेकर तैयारी करते तो उसे जीत जरूर मिलती।

बसपा सुप्रीमो ने कहा कि अखिलेश अभी उतने अनुभवी नहीं है। अगर मैं उनकी जगह होती तो अपने कैंडिडेट के बजाय सपा के प्रत्याशी को राज्यसभा में जीत दिलाकर बीजेपी एंड कंपनी की साजिश को नाकाम करती। 

You May Also Like

English News