मारुति सुजुकी CelerioX vs रेनो Kwid: जानिए किसे खरीदना फायदे का सौदा

मारुति ने हाल ही में सेलेरिया कार का नया वर्जन  CelerioX लॉन्च किया है। कार के लुक में कई परिवर्तन किए गए हैं। मारुति सुजुकी CelerioX का सीधा मुकाबला Renault Kwid से रहेगा। अगर आप नई कार खरीदना चाहते हैं तो उससे पहले इन दोनों कारों की तुलना पढ़ लीजिए। मारुति सुजुकी CelerioX vs रेनो Kwid: जानिए किसे खरीदना फायदे का सौदा

इंस्टाग्राम अब बना और भी ज्यादा एडवांस, ऐड हुए ये दो नए फीचर

किसके लिए है-
नई सेलेरियो एक्स क्रॉस-हैचबैक सेग्मेंट की कार है। अभी तक भारतीय ऑटो बाजार में हुंडई आई20 एक्टिव, फिएट Avventura और टोयोटा इटियास क्रास जैसी कारें क्रॉस-हैचबैक सेग्मेंट में आती हैं।  वहीं रेनो क्विड माइक्रो-एसयूवी कार कही जा सकती है। यह कम कीमत में अपने हल्के एसयूवी लुक के लिए मशहूर है। इसे मिनी डस्टर भी कहा जा सकता है।  

इंटीरियर-
नई सेलेरियोX में पूरी तरह से ब्लैक इंटीरियर दिया गया है, जो स्पोर्टी फील देता है। इसमें साधारण इंफोटेनमेंट सिस्टम और एनालॉग ड्राइवर कंसोल दिया गया है। वहीं रेनो क्विड में थोड़ा फंकी और यूथफुल इंटीरियर है। इसमें टच स्क्रीन इंफोटेनमेंट सिस्टम और डिजिटल ड्राइवर कंसोल मिलेगा। क्विड का डैशबोर्ड भी सेलेरियोएक्स से बेहतर है। 

इंजन-
सेलेरियो-X में आपको 1.0 लीटर तीन सिलिंडर इंजन मिलता है, जो 67 बीएचपी की पावर और 90 एनएम का टॉर्क जेनरेट करेगा। वहीं, क्विड में इससे हल्का 0.8 लीटर इंजन मिलता है जो 53 बीएचपी की पावर और 72 एनएम का टॉर्क जेनरेट करेगा।
माइलेज-
दोनों ही कार केवल पेट्रोल इंजन के साथ आती हैं। कंपनी के मुताबिक, सेलेरियाएक्स 23.1 km/l का माइलेज देती है , जबकि रेनो क्विड का 1.0 लीटर इंजन 23.10 km/l का माइलेज देती है। CelerioX की लंबाई और चौड़ाई रेनो क्विड से ज्यादा है। हालांकि क्विड का ग्राउंड क्लियरेंस सेलेरियो से 185 mm ज्यादा है। 

You May Also Like

English News