चुनाव प्रचार और बॉडी लैंग्वेज बता रहे हैं लखनऊ मध्य सीट का रुझान

लखनऊ। यूपी विधानसभा का इस बार का चुनाव कई पहलुओं को लेकर अहम है। प्रत्याशियों की बॉडी लाइग्वेज से लेकर उनके प्रचार के तरीकों पर वोटरों की नज़र है। वहीं प्रत्याशी भी वोटरों को रिझाने के लिए अपनी पूरी ताकत लगा चुकें हैं। इसके चुनाव के प्रति लोगों की जागरुकता कहा जाए या फिर रोचकता कि प्रत्याशियों के समर्थक भी इन्हीं सारी बातों को लेकर अपना-अपना आंकलन कर रहे हैं।
ऐसा ही कुछ आंकलन लखनऊ विधानसभा की मध्य सीट के लिए होने वाला चुनाव को लेकर कांग्रेस प्रत्याशी मारूफ खान के समर्थक कर रहे हैं। उनका मानना है कि मध्य सीट का चुना अब एक तरफा होता दिख रहा है। समाजवादी प्रत्याशी रवि दास मल्हौत्रा की बॉडी लाइग्वेज इस बात की तरफ इशारा कर रही है। मारूफ के समर्थक रकाबगंज निवासी जोवद हसन ने बताया कि मध्य सीट से चुनाव लड़ रहे सपा प्रत्याशी तो कभी इलाके में आये ही नहीं। चुनाव प्रचार के नाम पर उन्होंने सिर्फ खानापूर्ति ही कि है जबकि कांग्रेस प्रत्याशी ने गली.गली जाकर लोगों से वोट के लिए निवेदन किया और अपनी बात रखी। मौलवीगंज के रहने वाले उस्मान ने बताया कि ऐसा लग रहा है कि भाजपा प्रत्याशी ब्रजेश पाठक और सपा प्रत्याशी रविदास मल्हौत्रा के बीच कोई पैक्ट हो गया है। इन लोगों ने चुनाव से पहले ही रणभूमि छोड़ दी। उनका कहना है कि वहीं कांग्रेस के प्रत्याशी मारूफ खान ने प्रचार समय खत्म होने से पहले तक प्रचार किया और लोगों तक पहुंचे।  वहीं भाजपा के समर्थक चौक के याहियागंज के रहने वाले पप्पू का कहना है कि ब्रजेश पाठक इस चुनाव में मजबूत स्थिति में हैं। कम समय में भी उन्होंने लोगों के बीच पहुंचने की पूरी कोशिश की है। उनका यकीन है कि 19 फरवरी को  होने वाले मतदान में लोगों ब्रजेश पाठक को ही अपना वोट देंगे। मारूफ  खान के समर्थक और उनके जानने वाले इस बात पर यकीन रखते हैं कि मध्य सीट का चुनाव अब बिल्कुल एक तरफा हो चुका है। लोगों ने मारूफ  खान को छोड़कर बाकी प्रत्याशियों को सिरे से नकार दिया है।

You May Also Like

English News