मार्ग दुर्घटना में कुशीनगर के दो तीर्थ यात्रियों की मौत, सीएम ने जताया शोक

कुशीनगर जनपद के सेवरही थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत गौरी जगदीश के तीर्थ यात्रियों को कोलकाता के काली मंदिर ले जा रही बस बुधवार को तड़के करीब तीन बजे पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में सड़क के किनारे खड़े ट्रक के पीछे जा भिड़ी। घटना में दो महिला तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई। जबकि करीब दो दर्जन श्रद्धालु बुरी तरह घायल हो गए। सभी घायलों को वर्धमान मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। कुछ की हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने उन्हें कोलकाता रेफर कर दिया। घटना का कारण चालक को झपकी आना बताया जाता है। दुर्घटना की खबर गाव आते ही कोहराम मच गया।कुशीनगर जनपद के सेवरही थानाक्षेत्र के ग्राम पंचायत गौरी जगदीश के तीर्थ यात्रियों को कोलकाता के काली मंदिर ले जा रही बस बुधवार को तड़के करीब तीन बजे पश्चिम बंगाल के बर्धमान जिले में सड़क के किनारे खड़े ट्रक के पीछे जा भिड़ी। घटना में दो महिला तीर्थ यात्रियों की मौत हो गई। जबकि करीब दो दर्जन श्रद्धालु बुरी तरह घायल हो गए। सभी घायलों को वर्धमान मेडिकल कालेज में भर्ती कराया गया है। कुछ की हालत नाजुक देख चिकित्सकों ने उन्हें कोलकाता रेफर कर दिया। घटना का कारण चालक को झपकी आना बताया जाता है। दुर्घटना की खबर गाव आते ही कोहराम मच गया।    यात्रियों से भरी बस पलटी, दर्जन भर को हल्की चोटें यह भी पढ़ें जानकारी के मुताबिक गत तीन अगस्त को उक्त गाव के विभिन्न टोले के 110 श्रद्धालुओं का जत्था बस संख्या यूपी 16 पी 9206 से तीर्थयात्रा के लिए रवाना हुआ था। बिहार के सुल्तानगंज से झारखंड के बैजनाथ धाम होते हुए बासुकीनाथ पहुंच कर श्रद्धालुओं ने पूजन-अर्चन किया। मंगलवार की शाम बासुकीनाथ से तीर्थयात्रियों का जत्था कोलकाता के लिए रवाना हुआ और भोर में चालक को नींद आ जाने से बर्धमान जनपद में सड़क के किनारे खड़े ट्रक में बस पीछे से जा भिड़ी। बताया जाता है कि घटना के वक्त सभी यात्री सो रहे थे और बस तेज गति से जा रही थी। जबरदस्त टक्कर के चलते उक्त ग्राम पंचायत के बिंदटोली निवासी मीरा देवी पत्‍‌नी पवहारी (40) व सुनैना देवी पत्‍‌नी जंगबहादुर (40) की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कुन्ती देवी पत्‍‌नी विक्रम (50), कुसुम देवी पत्‍‌नी मुनर (35), सवरिया पत्‍‌नी बलराम (60), सोनिया पत्‍‌नी लल्लन (50), कुसुम पत्‍‌नी नन्दलाल (35), वृजा पुत्र बदरी (45), शैल देवी पत्‍‌नी प्रेम (50), पहवारी पुत्र चन्द्रिका (45), सविता पत्‍‌नी सम्पत (25), सम्पत पुत्र चन्द्रीका(30), पृथ्वीचन्द पुत्र शिवजतन (50) सहित दो दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों को इलाज हेतु बीएनसीएच मेडिकल कालेज बर्धमान में भर्ती कराया गया जहा कुछ लोगों की स्थिति नाजुक देख उन्हें चिकित्सकों ने कोलकाता रेफर कर दिया। इधर, खबर आते ही गाव में कोहराम मच गया। तीर्थयात्रा पर गए श्रद्धालुओं के परिजन उनकी कुशलता जानने के लिए परेशान हो गए। रह-रह कर मौतों की अफवाह उठती रही और एक घर के बाद दूसरे घर से चीखने चिल्लाने की आवाजें आती रहीं। किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला।  सीएम ने जताया शोक, उचित प्रबंध करने का निर्देश  सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मारे गए तीर्थ यात्रियों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने महिला श्रद्धालुओं के पार्थिव शरीर को कुशीनगर लाए जाने व हादसे में घायल श्रद्धालुओं के समुचित उपचार की व्यवस्था करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है

जानकारी के मुताबिक गत तीन अगस्त को उक्त गाव के विभिन्न टोले के 110 श्रद्धालुओं का जत्था बस संख्या यूपी 16 पी 9206 से तीर्थयात्रा के लिए रवाना हुआ था। बिहार के सुल्तानगंज से झारखंड के बैजनाथ धाम होते हुए बासुकीनाथ पहुंच कर श्रद्धालुओं ने पूजन-अर्चन किया। मंगलवार की शाम बासुकीनाथ से तीर्थयात्रियों का जत्था कोलकाता के लिए रवाना हुआ और भोर में चालक को नींद आ जाने से बर्धमान जनपद में सड़क के किनारे खड़े ट्रक में बस पीछे से जा भिड़ी। बताया जाता है कि घटना के वक्त सभी यात्री सो रहे थे और बस तेज गति से जा रही थी। जबरदस्त टक्कर के चलते उक्त ग्राम पंचायत के बिंदटोली निवासी मीरा देवी पत्‍‌नी पवहारी (40) व सुनैना देवी पत्‍‌नी जंगबहादुर (40) की मौके पर ही मौत हो गई जबकि कुन्ती देवी पत्‍‌नी विक्रम (50), कुसुम देवी पत्‍‌नी मुनर (35), सवरिया पत्‍‌नी बलराम (60), सोनिया पत्‍‌नी लल्लन (50), कुसुम पत्‍‌नी नन्दलाल (35), वृजा पुत्र बदरी (45), शैल देवी पत्‍‌नी प्रेम (50), पहवारी पुत्र चन्द्रिका (45), सविता पत्‍‌नी सम्पत (25), सम्पत पुत्र चन्द्रीका(30), पृथ्वीचन्द पुत्र शिवजतन (50) सहित दो दर्जन लोग घायल हो गए। घायलों को इलाज हेतु बीएनसीएच मेडिकल कालेज बर्धमान में भर्ती कराया गया जहा कुछ लोगों की स्थिति नाजुक देख उन्हें चिकित्सकों ने कोलकाता रेफर कर दिया। इधर, खबर आते ही गाव में कोहराम मच गया। तीर्थयात्रा पर गए श्रद्धालुओं के परिजन उनकी कुशलता जानने के लिए परेशान हो गए। रह-रह कर मौतों की अफवाह उठती रही और एक घर के बाद दूसरे घर से चीखने चिल्लाने की आवाजें आती रहीं। किसी भी घर में चूल्हा नहीं जला।

सीएम ने जताया शोक, उचित प्रबंध करने का निर्देश

सीएम योगी आदित्यनाथ ने हादसे में मारे गए तीर्थ यात्रियों के प्रति शोक संवेदना व्यक्त की है। मुख्यमंत्री ने महिला श्रद्धालुओं के पार्थिव शरीर को कुशीनगर लाए जाने व हादसे में घायल श्रद्धालुओं के समुचित उपचार की व्यवस्था करने के लिए अधिकारियों को निर्देशित किया है

You May Also Like

English News