मुंबई हादसा: बैठक में रेल मंत्री ने लिया बड़ा फैसला, अब फील्ड में भेजे जाएंगे 200 अधिकारी

मुंबई के एलफिंस्टन रेलवे स्टेशन पर हुए बड़े हादसे ने पूरे रेल मंत्रालय को हिलाकर रख दिया है। लोगों की सुरक्षा लेकर लंबे समय से सवालों में घिरा रेल मंत्रालय इस हादसे के बाद गंभीर कदम उठाने की तैयारी कर रहा है।मुंबई हादसा: बैठक में रेल मंत्री ने लिया बड़ा फैसला, अब फील्ड में भेजे जाएंगे 200 अधिकारीअभी-अभी: राम रहीम और डेरा की मुश्किलें बढ़ीं, ED ने शुरू किया पाई पाई का हिसाब लेना

रेल मंत्री पीयूष गोयल ने मुंबई में रेलवे बोर्ड के अधिकारियों के साथ अहम बैठक की। बैठक के बाद रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 200 अधिकारियों को मुख्यालयों से फील्ड में काम करने के लिए भेजा जाएगा ताकि ग्राउंड ऑपरेशन्स पर ध्यान दिया जा सके।

इसके अलावा मुंबई के भीड़भाड़ वाले स्टेशनों पर अतिरिक्त एस्कलेटर्स लगाए जाएंगे। नौकरशाही की वजह से होने वाली देरी को कम करने के लिए जीएम को अतिरिक्त अधिकार दिए जाएंगे।

मालूम हो कि कल हुए हादसे में अब तक 23 लोगों की मौत हो चुकी है

वहीं ऐसा माना जा रहा है कि इस बैठक के बाद बड़े बदलाव आ सकते हैं। 23 लोगों के मारे जाने और कई के घायल होने के बाद पीयूष गोयल ने मामले की जांच के आदेश दे दिए। साथ ही मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपये मुआवजे का ऐलान किया गया। इसके बावजूद रेल प्रशासन विरोधियों के लगातार निशाने पर है। 

महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (मनसे) प्रमुख राज ठाकरे और कांग्रेस ने साफ कह दिया है कि वे मुंबई में बुलेट ट्रेन का काम शुरू होने नहीं देंगे। कांग्रेस नेता संजय राउत ने कहा कि लोगों की सुरक्षा को गंभीरता से नहीं लिया जाता, वे यहां मुंबई में बुलेट ट्रेन का काम शुरू नहीं होने देंगे।

You May Also Like

English News