मुख्यमंत्री शिवराज ने की मुस्लिम परिवार की मदद, मामा बनकर कराएंगे भांजी की शादी

अभी ज्यादा दिन नहीं बीते जब मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल जेल ब्रेक में मारे गए रमाशंकर यादव की बेटी की शादी में न केवल परिवार की मदद की बल्कि खुद शिरकत भी की और अब उन्होंने ऐसी ही मदद उज्जैन जिले के एक मुस्लिम परिवार की की है. उज्जैन जिले के पांड्याखेड़ी गांव की रहने वाली शाइना की शादी में परिवार को आर्थिक सहायता की दरकार थी, जिसे शिवराज ने न केवल पूरा किया बल्कि शाइना को उसके घर पर पहुंच कर आशीर्वाद भी दिया.

shivraj-singh-chouhan-580x395

पुरुष नसबंदी पर अब मिलेंगे 2 की जगह 3 हजार रुपए

दरअसल 10 दिसंबर को मुख्यमंत्री किसान सम्मेलन के लिए उज्जैन पहुंचे थे. कार्यक्रम के बाद जब वो पुलिस ट्रेनिंग सेंटर का उद्धाटन कर वापस लौट रहे थे तो सलीम शाह नाम के शख्स और उनके परिवार ने सीएम का काफिला रोक अपनी परेशानी उन्हे बताई थी. परिवार ने सीएम शिवराज को बताया कि आर्थिक हालात खराब होने के कारण वो अपनी बेटी शाइना का निकाह करने में सक्षम नहीं है. इस पर शिवराज ने परिवार को आशवस्त किया था कि मामा के रहते भांजी के निकाह में कोई रुकावट नहीं आने दी जाएगी. आपको बता दें कि शिवराज खुद को प्रदेश के लड़की और लड़कियों का मामा कहते हैं.

नोटबंदी के बाद उपचुनावों के नतीजे, BJP को बड़ा झटका

मंगलवार को अपना वादा निभाने शिवराज सिंह चौहान अचानक उज्जैन पहुंचे और मुस्लिम परिवार के घर जाकर निकाह की तैयारियों का जायजा लिया. इस दौरान उन्होंने शाइना को आशिर्वाद भी दिया और उज्जैन कलेक्टर संकेत भोंडवे को परिवार की आर्थिक सहायता का निर्देश भी दिया. इसके अलावा मुख्यमंत्री ने परिवार को भरोसा दिलाया कि शाइना के निकाह का खर्चा शासन द्वारा उठाया जाएगा. शाइना की शादी 24 दिसंबर को होनी है.

ये पहली बार नहीं है जब सीएम शिवराज की आत्मीयता सार्वजनिक रूप से दिखी हो. इससे पहले पिछले हफ्ते ही भोपाल जेल ब्रेक मे मारे गए कॉन्स्टेबल रमाशंकर यादव की बेटी की शादी में भी शिवराज सिंह चौहान ने खुद सभी तैयारियां देखी और मेहमानों का स्वागत किया था.

 

You May Also Like

English News