मुजफ्फरपुर हादसे से दुखी मुख्यमंत्री नीतीश, सादगी से मनाएंगे 67वां जन्मदिन

28 फरवरी यानी बुधवार का दिन बिहार की राजनीति में काफी उथल पुथल भरा रहा. एक तरफ जहां पूर्व मुख्यमंत्री जीतन राम मांझी की पार्टी हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा NDA का साथ छोड़कर महागठबंधन में शामिल हो गई, वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस के चार एमएलसी जदयू में आ गए. बिहार की इसी राजनीतिक उठापटक के बीच मुख्यमंत्री नीतीश कुमार 1 मार्च यानी आज 67 साल के हो गए क्योंकि आज उनका जन्मदिन है.मुजफ्फरपुर हादसे से दुखी मुख्यमंत्री नीतीश, सादगी से मनाएंगे 67वां जन्मदिनवैसे तो नीतीश कुमार हर साल यह दिन काफी सादगी के साथ मनाते हैं जब उनके पार्टी के नेता और कार्यकर्ता उन्हें गुलाब का फूल देकर उन्हें शुभकामनाएं देते हैं. मगर इस साल मुजफ्फरपुर में 9 मासूम बच्चों की मौत हो जाने की वजह से मुख्यमंत्री ने इस दिन को और भी साधारण तरीके से मनाने का फैसला किया है.

नीतीश कुमार का जन्मदिन होली से ठीक 1 दिन पहले पड़ रहा है और उन्होंने पहले ही ऐलान कर दिया है कि मुजफ्फरपुर की घटना के शोक में वह इस साल होली का त्यौहार भी नहीं मनाएंगे. 

हालांकि, माना जा रहा है कि नीतीश कुमार के सादगी से जन्मदिन मनाने के फैसले के बावजूद उनके सरकारी आवास पर गुरुवार सुबह से ही उनके चाहने वाले, पार्टी नेता और कार्यकर्ता उन्हें शुभकामनाएं देने के लिए पहुंचेंगे.

गौरतलब है कि पिछले साल नीतीश कुमार के जन्मदिन पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन पर उनसे बातचीत करके उन्हें जन्मदिन की शुभकामनाएं दी थी. उस वक्त नीतीश कुमार आरजेडी के साथ सरकार में थे. मगर अब हालात बदल चुके हैं और वह भाजपा के साथ हैं. ऐसे में माना जा रहा है कि एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी आज नीतीश कुमार को जन्मदिन की शुभकामनाएं देंगे.

You May Also Like

English News