मुशर्रफ द्वारा बेचे गए पाकिस्तानी नागरिक:पूर्व जज

 यहाँ के पूर्व जज ने पूर्व सैन्य प्रमुख और राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर गंभीर आरोप लगाए हैं. पाकिस्तान के पूर्व जज जावेद इकबाल ने आरोप लगते हुए कहा है कि मुशर्रफ ने हजारों नागरिकों को दूसरे देशों को बेचने का काम किया है.पाकिस्तान: यहाँ के पूर्व जज ने पूर्व सैन्य प्रमुख और राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ पर गंभीर आरोप लगाए हैं. पाकिस्तान के पूर्व जज जावेद इकबाल ने आरोप लगते हुए कहा है कि मुशर्रफ ने हजारों नागरिकों को दूसरे देशों को बेचने का काम किया है.  गौरतलब है कि जावेद इकबाल पाकिस्तान में लापता लोगों की जांच के लिए बनाए गए आयोग के प्रमुख हैं. उन्होंने मानवाधिकारों पर बनी संसद की स्थायी समिति के सामने यह आरोप लगाया है. जावेद इकबाल पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के भी प्रमुख हैं.  इकबाल ने संसद की स्थायी समिति के सामने कहा है कि मुशर्रफ ने 4000 से ज्यादा पाकिस्तानियों को पैसों के बदले अमेरिका को बेच दिया. उन्होंने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया को गुप्त तरीके से अंजाम दिया गया. इन दिनों पाकिस्तान में लापता लोगों को लेकर पश्तून तहाफुज आंदोलन (पीटीएम) चल रहा है. पूर्व जज के  इस खुलासे के बाद पाकिस्तान की राजनीति में और उथल-पुथल मच सकती है. इस आंदोलन की बड़ी मांग यह  है कि खैबर पख्तूनख्वा प्रांत और केंद्र शासित कबायली इलाके फाटा के विभिन्न हिस्सों से लापता हजारों लोगों के बारे में पता लगाया जाए. साथ ही उन्हें यहाँ के समान नागरिक अधिकार दिए जाए.

गौरतलब है कि जावेद इकबाल पाकिस्तान में लापता लोगों की जांच के लिए बनाए गए आयोग के प्रमुख हैं. उन्होंने मानवाधिकारों पर बनी संसद की स्थायी समिति के सामने यह आरोप लगाया है. जावेद इकबाल पाकिस्तान के राष्ट्रीय जवाबदेही ब्यूरो के भी प्रमुख हैं.

इकबाल ने संसद की स्थायी समिति के सामने कहा है कि मुशर्रफ ने 4000 से ज्यादा पाकिस्तानियों को पैसों के बदले अमेरिका को बेच दिया. उन्होंने कहा कि इस पूरी प्रक्रिया को गुप्त तरीके से अंजाम दिया गया. इन दिनों पाकिस्तान में लापता लोगों को लेकर पश्तून तहाफुज आंदोलन (पीटीएम) चल रहा है. पूर्व जज के  इस खुलासे के बाद पाकिस्तान की राजनीति में और उथल-पुथल मच सकती है. इस आंदोलन की बड़ी मांग यह  है कि खैबर पख्तूनख्वा प्रांत और केंद्र शासित कबायली इलाके फाटा के विभिन्न हिस्सों से लापता हजारों लोगों के बारे में पता लगाया जाए. साथ ही उन्हें यहाँ के समान नागरिक अधिकार दिए जाए.

You May Also Like

English News