मुसलमान से बनी हिंदू ये महिला अब संवार रही दूसरी महिलाओं की जिंदगी

काफी दिक्कतों के बाद जय शिवसेना के नेतृत्व में मुस्लिम महिला शबनम ने मुस्लिम धर्म छोड़कर हिंदू धर्म अपना लिया है। आर्य समाज के विद्वान शास्त्री ने वैदिक रीति के तहत धर्म परिवर्तन कराया। अब वह दूसरी महिलाओं की जिंदगी संवार रही हैं।

अभी अभी: BJP पार्टी में चारो तरफ़ मचा घमासान, इस बड़े नेता की हुई मौत…

अब मुस्लिम महिला शबनम सीमा बन गई हैं। महिला के मुताबिक, वह जय शिवसेना के साथ मिलकर तीन तलाक व मुस्लिम धर्म में व्याप्त अन्य कुरीतियों से पीड़ित महिलाओं की मदद के लिए लड़ाई लड़ेगी। इसी वजह से उसने धर्म परिवर्तन कराया है।

अभी-अभी : आई बड़ी खबर अमित शाह के प्लेन में हुई बड़ी खराबी

वहीं, महिला के धर्म परिवर्तन के बाद जय शिवसेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित आर्यन ने कहा कि हमारी पार्टी धर्म बदलने के लिए किसी पर दबाव नहीं डालती, लेकिन हमारे पास जो भी मुस्लिम महिला अपनी परेशानी लेकर आएगी, हम उसकी पूरी मदद करेंगे।

प्रशासन ने हमारे इस काम में काफी अड़ंगे लगाए, लेकिन महिला ने धर्म परिवर्तन कर ही लिया। अमित आर्यन ने कहा कि धर्म परिवर्तन का काम वैदिक रीति के अनुसार कोई भी व्यक्ति स्वेच्छा से कर सकता है। प्रत्येक व्यक्ति को शुद्धिकरण का अधिकार है।
सीमा का कहना है कि वह अब काफी खुश हैं। उसे लग रहा है कि हिंदु समाज में महिलाओं का सम्मान किया जाता है। ‘मेरा यह फैसला बिल्कुल सही है’ अब मैं अपनी जैसी महिलाओं की मदद करूंगी।
ये है मामला :जय शिवसेना के राष्ट्रीय प्रधान अमित आर्यन ने बताया कि महिला तीन तलाक से पीड़ित थी। आरोपियों ने पहले उसे तलाक दिया, फिर हलाला के माध्यम से बुलाकर वेश्यावृति कराने लगे। प्रेग्नेंट होने पर वह भाग निकली और मामले की शिकायत कैला भट्टा एरिया में दर्ज कराई। कार्रवाई नहीं होने पर पीड़िता ने एसएसपी ऑफिस में कंप्लेंट दी थी। यहीं उसकी मुलाकात जय शिवसेना के पदाधिकारियों से हुई थी। 
जय शिवसेना के नैशनल प्रेजिडेंट अमित आर्यन ने बताया कि कैला भट्टा निवासी इस महिला को 2014 में उसके पति ने तलाक दे दिया था। ऐसे में इद्दत की अवधि के बाद उसने पति का घर छोड़ दिया। उस वक्त महिला के दो बच्चे थे। पीड़िता का आरोप है कि इसके बाद उसके पति ने गुमराह करके उसे वापस बुला लिया। इस दौरान हलाला की आड़ में महिला से वेश्यावृत्ति कराई गई।
आरोप है कि पति के कई दोस्तों ने भी महिला से सेक्सुअल असॉल्ट किया। पीड़िता ने पुलिस को तहरीर दी, लेकिन कार्रवाई न होने पर सितंबर 2016 में वह एसएसपी ऑफिस पहुंच गई।
मुस्लिम धर्म में यदि कोई शख्स अपनी पत्नी को तलाक दे देता है और दोबारा उससे शादी करना चाहता है तो पत्नी को किसी अन्य व्यक्ति से शादी करके उसके साथ एक रात गुजरनी होती है। उससे तलाक लेने के बाद वह अपने पहले पति के साथ शादी कर पाती है।

You May Also Like

English News