मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नहीं चाहता सुलह से राम मंदिर निर्माण: वसीम रिजवी

शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के चेयरमैन वसीम रिजवी ने कहा कि ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नहीं चाहता कि सुलह से राम मंदिर निर्माण हो। उन्होंने पर्सनल लॉ बोर्ड के प्रवक्ता सज्जाद नोमानी के खिलाफ राष्ट्रद्रोह का केस दर्ज कराने को लेकर हजरतगंज थाने में तहरीर दी है।
मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड नहीं चाहता सुलह से राम मंदिर निर्माण: वसीम रिजवी
हजरतगंज कोतवाली में दी गई तहरीर में वसीम रिजवी ने कहा कि 9 फरवरी को हैदराबाद में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के जलसे में नोमानी ने मुसलमानों को उकसाने वाली बयानबाजी की। उनकी तकरीर देश में गृहयुद्ध छेड़ने की साजिश है। इससे देश में नफरत फैल सकता है।

वहीं, सलमान नदवी के मामले पर वसीम रिजवी ने कहा श्रीराम मंदिर के बदले में सौदेबाजी किया जाना देश के साथ धोखा और शर्म की बात है। मीर बाकी ने अयोध्या में मंदिर तोड़कर मंस्जिदें बनवाई थीं। ऐसी मस्जिद में किसी भी तरह की इबादत जायज नहीं है। अयोध्या में विवादित स्थल पर भव्य श्रीराम मंदिर बनना चाहिए।

रिजवी ने कहा कि मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड दहशतगर्दों की विचारधारा का समर्थक है। वह नहीं चाहता कि अयोध्या में आपसी सुलह-समझौते से राम मंदिर का निर्माण हो। इसलिए वह मंदिर-मस्जिद विवाद के जरिये देश में दहशत बनाए रखना चाहता है।

You May Also Like

English News