मुस्लिम पार्टी के बयान पर राहुल गांधी चुप क्यों : भाजपा

भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के “मुस्लिम पार्टी” के बयान पर चुप्पी साधने पर सवाल किया है। भाजपा ने कहा है कि कांग्रेस में मुस्लिम महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है।भारतीय जनता पार्टी ने कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के "मुस्लिम पार्टी" के बयान पर चुप्पी साधने पर सवाल किया है। भाजपा ने कहा है कि कांग्रेस में मुस्लिम महिलाओं के लिए कोई जगह नहीं है। भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ बेशर्मी भरे आरोप लगाने से साफ है कि वह सत्ता के लिए कितने बेसब्र हैं। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने अभी तक तीन तलाक पर सरकार की पहल का भी समर्थन नहीं किया है। जबकि सुप्रीम कोर्ट भी इस पर प्रतिबंध लगा चुका है। उर्दू दैनिक में प्रकाशित राहुल गांधी के बयान "कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है" पर तंज कसते हुए प्रसाद ने कहा कि अब वह अल्पसंख्यक समुदाय को लुभाने की कोशिशों में लगे हुए हैं। राहुल गांधी जब चुनाव के लिए गुजरात गए थे तो वह जनेऊधारी बन गए और अपने ब्राह्माण वंशी होने का जिक्र करने लगे। इसके बाद वह कर्नाटक में गए। अब चुनाव खत्म हो गए हैं तो वह फिर से मुसलमानों को लुभाने में जुट गए हैं। रविशंकर प्रसाद ने पूछा कि मुद्दा यह है कि अब राहुल गांधी इस मामले में लगातार चुप्पी क्यों साध ली है। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मौजूदगी में हिलेरी क्लिंटन की मेजबानी में हुए भोज में कहा था कि भगवा आतंकवाद लश्कर ए तैयबा से भी खतरनाक है।

भाजपा के वरिष्ठ नेता रविशंकर प्रसाद ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री के खिलाफ बेशर्मी भरे आरोप लगाने से साफ है कि वह सत्ता के लिए कितने बेसब्र हैं।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने अभी तक तीन तलाक पर सरकार की पहल का भी समर्थन नहीं किया है। जबकि सुप्रीम कोर्ट भी इस पर प्रतिबंध लगा चुका है।

उर्दू दैनिक में प्रकाशित राहुल गांधी के बयान “कांग्रेस मुसलमानों की पार्टी है” पर तंज कसते हुए प्रसाद ने कहा कि अब वह अल्पसंख्यक समुदाय को लुभाने की कोशिशों में लगे हुए हैं।

राहुल गांधी जब चुनाव के लिए गुजरात गए थे तो वह जनेऊधारी बन गए और अपने ब्राह्माण वंशी होने का जिक्र करने लगे। इसके बाद वह कर्नाटक में गए।

अब चुनाव खत्म हो गए हैं तो वह फिर से मुसलमानों को लुभाने में जुट गए हैं। रविशंकर प्रसाद ने पूछा कि मुद्दा यह है कि अब राहुल गांधी इस मामले में लगातार चुप्पी क्यों साध ली है।

उन्होंने कहा कि राहुल गांधी ने तत्कालीन प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह की मौजूदगी में हिलेरी क्लिंटन की मेजबानी में हुए भोज में कहा था कि भगवा आतंकवाद लश्कर ए तैयबा से भी खतरनाक है।

 

You May Also Like

English News