मेरठ में छेड़छाड़ से परेशान अनुसूचित जाति की दो बहनों ने छोड़ी पढ़ाई, एसएसपी से की शिकायत दर्ज हुआ मुकदमा…

इंचौली थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली दो सगी बहनों ने छेड़छाड़ से परेशान होकर पढ़ाई छोड़ दी है। अनुसूचित जाति की ये बहनें गांव के ही दूसरी बिरादरी के युवकों से जान का खतरा भी बता रही हैं। थाने में सुनवाई नहीं हुई तो दोनों बहनें एसएसपी कार्यालय पर पहुंचीं और कार्रवाई की मांग की। दोनों बहनों के पिता ने बताया कि उसकी बेटिया मेरठ शहर के एक डिग्री कॉलेज में बीए फ‌र्स्ट ईयर में पढ़ती हैं। वह गांव से जब मेरठ आती हैं तो क्षेत्र का ही युवक और उसके दोस्त उसकी बेटियों को परेशान करते हैं और छेड़छाड़ करते हैं।

शुक्रवार को भी जब दोनों बहनें मेरठ से अपने घर लौट रही थीं तो आरोपित ने अपने दोस्तों के साथ दोनों बहनों के साथ अश्लील हरकत की और धमकी दी कि यदि उन्होंने पुलिस कार्रवाई की तो वह उनका अपहरण करके हत्या कर देंगे। दोनों बहनों ने घटना की जानकारी अपने परिजनों को दी। लड़कियों का पिता जब युवक के घर पहुंचा और उसने शिकायत की तो उल्टा युवक और उसके परिवार वालों ने लड़की के पिता को पीटा। आरोप है कि आरोपित पक्ष के कुछ लोगों ने खुद के शरीर में चोट बनाई और तहरीर लेकर थाने पहुंच गए।

उल्टे लड़की पक्ष के खिलाफ थाने में तहरीर दे दी। इसके बाद पुलिस लड़कियों के घर पर पहुंची और तोड़फोड़ की। लड़कियों के पिता ने जब थाने पहुंचकर सच्चाई बताई तो पुलिस ने एक नहीं सुनी। उसके बाद पीड़ित परिवार शनिवार को एसएसपी कार्यालय पर पहुंचा और कार्रवाई की माग की।

एसएसपी के क्राइम मीटिंग में होने के कारण परिवार ऑफिस पर ही बैठा हुआ है और जिद पर अड़ा है कि जब तक एसएसपी नहीं मिलेंगे वह नहीं जाएंगे। वहीं, इंचौली थाना प्रभारी पंकज शर्मा का कहना है कि लड़की पक्ष ने युवक को अपने घर पर बुलाया और उससे मारपीट कर घायल कर दिया। इसलिए उनकी तहरीर ली गई। लड़की पक्ष ने छेड़छाड़ की कोई तहरीर थाने में नहीं दी। यदि तहरीर देते तो कार्रवाई होती।

You May Also Like

English News