मैच में टीम इंडिया की हार को लेकर विराट ने खोले ये बड़ा राज….

भारत और न्यूजीलैंड के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का आगाज 22 अक्टूबर को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में हुआ। मैच में टीम इंडिया को 6 विकेट से मात देकर कीवी टीम ने सीरीज में 1-0 की बढ़त हासिल कर ली है। टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी टीम इंडिया ने निर्धारित 50 ओवर में कप्तान विराट कोहली के शानदार शतक की बदौलत 8 विकेट पर 280 रन बनाए। इसके जवाब में खेलने उतरी न्यूजीलैंड ने एक ओलर शेष रहते टॉम लैथम(103) और रॉस टेलर(95) के बीच 200 रन की साझेदारी की बदौलत हासिल कर लिया।  मैच में टीम इंडिया की हार को लेकर विराट ने खोले ये बड़ा राज....

वानखेड़े में हारा भारत, सौरव गांगुली ने दी सलाह- ‘इस खिलाड़ी’ को टीम में लाना जरूरी

हम बड़ा स्कोर खड़ा करना चाहते थे लेकिन वो नहीं हो सका: विरा

मैच के बाद टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली ने कहा, व्यक्तिगत रूप से देखा जाए तो शतकीय पारी संतोषजन थी। इस विकेट पर 275 से ज्यादा का स्कोर काफी था लेकिन न्यूजीलैंड के बल्लेबाजों ने शानदार खेल दिखाया खासकर मैच के सेकेंड हाफ में। रॉस और टॉम बेहतरीन थे इसलिए वो जीत डिजर्व करते हैं। विराट ने आगे कहा, यदि आखिर के 13-14 ओवर में ओस के असर को देखा जाए तो हमारा स्कोर थोड़ा कम था। हम बड़ा स्कोर खड़ा करना चाहते थे लेकिन वो नहीं हो सका लेकिन 280 रन भी प्रतिस्पर्धी थे।

टीम इंडिया के स्पिनर्स को बेअसर रहने के बारे में विराट ने कहा, उन्होंने हमारे स्पिनर्स का बेहतरीन तरीके से सामना किया। उन्होंने अपने क्षेत्र में गेंद को पिक किया और शानदार बल्लेबाजी की। विराट ने टॉम लैथम की बल्लेबाजी की तारीफ करते हुए कहा, उन्हें बल्लेबाजी करता देखने में मजा आया। ट्रेंट बोल्ट ने भी शानदार गेंदबाजी की। विकेट में उछाल और टर्न दोनों था। यदि मैच शुरुआत में हमारे हाथ से छिटकता दिखता तो हम केदार को निश्चित तौर पर गेंदबाजी पर लाते लेकिन बाद में मुझे इसकी जरूरत महसूस नहीं हुई। 

हम इस प्रदर्शन को आगे लेकर जाएंगे: केन विलियमसन

कीवी कप्तान केन विलियमसन ने जीत पर खुशी जाहिर करते हुए कहा, टीम ने शानदार खेल दिखाया। जिस तरह गेंदबाजों ने नई गेंद के साथ मैच की दिशा-दशा तय की वह बेमिसाल था। विराट ने शानदार शतक जड़कर हमारी शानदार शुरुआत को सामान्य में तब्दील कर दिया। इसके बाद टॉम और रॉस ने जो साझेदारी की वो मेरी नजर में लक्ष्य का पीछा करते हुए हुई सबसे बेहतरीन साझेदारी है।

इस तरह के उमस भरे मौसम में गेंदबाजों ने सराहनीय गेंदबाजी की। 200 रन की साझेदारी स्पेशल है। हम इस प्रदर्शन को आगे लेकर जाएंगे। हमारे कुछ खिलाड़ी अभी भी छाया में हैं। आज का प्रदर्शन शानदार टीम फरफॉर्मेंस है। इस चुनौतीपूर्ण मौसम में टीम के सदस्यों ने सही जज्बा दिखाया। 

रॉस टेलर ने कहा, ये लैथम के करियर की सर्वश्रेष्ठ पारी

वहीं शतक से चूकने वाले रॉस टेलर ने कहा, विराट ने शानदार तरीके से मैच में भारतीय टीम की वापसी कराई। 280 रन का स्कोर हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है। लैथम ने आखिर तक बल्लेबाजी कर मुझे दबाव मुक्त कर दिया। हम दोनों मैच को आखिर तक ले जाना चाहते थे। यहां बल्लेबाजी की शुरुआत करना कठिन था लेकिन हमने खुद को अच्छा करने का मौका दिया। जिस तरह कुलदीप और चहल गेंद को विकेट के दोनों तरफ स्पिन कर रहे थे उसमें बैटिंग में लेफ्ट-राइट हैंड कॉम्बिनेशन ने हमारी मदद की। लेकिन इन दोनों गेंदबाजों का भविष्य उज्जवल है।

लैथम की तारीफ करते हुए टेलर ने कहा, लैथम ने शानदार पारी खेली। उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन किया। 50 ओवर विकेट कीपिंग करने के बाद बल्लेबाजी करना आसान नहीं होता। इस पारी को हमेशा उनके करियर की सर्वश्रेष्ठ पारियों में शुमार किया जाएगा। भारतीय दर्शकों से मिले समर्थन के बार में टेलर ने कहा, भारतीय दर्शकों के सामने खेलना हमेशा अच्छा लगता है। वो आपका नाम पुकारते रहते हैं। मुझे शतक न पूरा कर पाने का अफसोस है लेकिन जीत की खुशी है।  

You May Also Like

English News